ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड चाईबासा 3 लोगों ने मिलकर कर दी थी कार्तिक नायक की हत्या

3 लोगों ने मिलकर कर दी थी कार्तिक नायक की हत्या

चाईबासा।पश्चिम सिंहभूम जिला के जेटेया थाना क्षेत्र में 19 सितंबर को कार्तिक नायक नामक व्यक्ति की हत्या कर पेड़ पर टांग दिया गया था प्रथम दृष्टा...

3 लोगों ने मिलकर कर दी थी कार्तिक नायक की हत्या
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,चाईबासाTue, 27 Sep 2022 04:51 PM
ऐप पर पढ़ें

चाईबासा।पश्चिम सिंहभूम जिला के जेटेया थाना क्षेत्र में 19 सितंबर को कार्तिक नायक नामक व्यक्ति की हत्या कर पेड़ पर टांग दिया गया था प्रथम दृष्टा हत्या का मामला होने के कारण इस पर गहनता से जांच किया गया। इस संबंध में 3 लोगों को पुलिस ने गरफ्तार कर लिया है मंगलवार को पत्रकारों को जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक आशुतोष शेखर ने बताया कि जेटिया थाना की कोन्को देवी उम्र 34 वर्ष, पति स्व० कार्तिक नायक (मृतक) पटेता टोला हतनासा के बयान के आधार पर अज्ञात व्यक्ति के द्वारा मार कर आत्महत्या का रूप देने के नियत से पेड़ में टाँगते हुए हत्या करने के आरोप में अज्ञात अभियुक्त के विरुद्ध जेटेया थाना में मामला दर्ज किया गया। नक्सल प्रभावित क्षेत्र पर घटित इस घटना को गहराई से लेते हुए त्वरित उद्भेदन के लिए दिशा-निर्देश दिया गया। अनुसंधान के क्रम में काण्ड में संदेही अभियुक्त पहाड सिंह लागुरी उम्र करीब 30 वर्ष पे० स्व० जेना लागुरी, सा०- जामजुई, थाना जेटेया को पुछताछ हेतु गिरफ्तार किया गया। कड़ाई से पुछताछ करने के उपरांत अभियुक्त पहाड सिंह लागुरी ने अपना अपराध स्वीकार किया जिसका अपराध स्वीकारोक्ति बयान लिया गया। जिसमें इन्होंने बताया कि पटता टोला हतनाबेडा की रहने वाली इनके दोस्त बीमा पूरती की बहन बालेमा पुरती ने इस काण्ड के अन्य अभियुक्त केशब पुरती पटना टोला सांगागुड थाना- जेटेया (रिश्ते में बालेमा पुरती का भतीजा) एवं एक अन्य अभियुक्त के साथ बीमा पुरती को पुलिस से पकड़वाने के शक पर कार्तिक नायक को जान से मारने का योजना दिनांक 16 सितंबर को बालेमा पुरती के हड़िया गोदाम में बनाया गया। कार्तिक नायक को मारने में बालेमा पुरती द्वारा 25000/- रुपये दिये जाने का बात हुआ। दिनांक 18.09. 2022 को विश्वकर्मा विसर्जन के दिन योजना के अनुसार चारों अभियुक्तों द्वारा कार्तिक नायक को ठंडा एवं लात-घूंसा से मारकर हत्या कर पेड़ में टांग दिया गया। एसपी ने कहा कि गिरफ्तार अभियुक्तों के स्वीकारोक्ति ध्यान के आधार पर एवं उनकी निशानदेही पर घटना में इस्तेमाल डंडा, मृतक का चप्पल एवं घटना में इस्तेमाल मोटरसाईकिल बरामद किया जा चुका है। घटना का कारण बालेमा पुरती के भाई बीमा पुरती का पुलिस से गिरफ्तारी करवाने के संदेह के कारण घटना को अंजाम दिया गया है । 18 सितंबर को संध्या में उपरोक्त अभियुक्तों के द्वारा डंडा एवं लात-घूँसा से हत्या कर आत्महत्या का रूप देने के नियत से आम के पेड़ में गमछी से गला बोध कर टोंगा गया है। छापामारी दल में थाना प्रभारी जेटया विपिन चन्द्र महतो, आनन्द तिग्मा, मिथिलेश कुमार मौर्या समेत अन्य शमिल थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
epaper