ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड चाईबासा मंझारी में पीसीसी सड़क का हुआ शिलान्यास

मंझारी में पीसीसी सड़क का हुआ शिलान्यास

बारिश नहीं होने से किसान निराश हैं। किसानों को इस बात का भय है कि अगर देर से बारिश हुई तो उत्पादन प्रभावित हो सकता...

मंझारी में पीसीसी सड़क का हुआ शिलान्यास
हिन्दुस्तान टीम,चाईबासाTue, 18 Jun 2024 01:45 AM
ऐप पर पढ़ें

चाईबासा, संवाददाता। बारिश नहीं होने से किसान निराश हैं। किसानों को इस बात का भय है कि अगर देर से बारिश हुई तो उत्पादन प्रभावित हो सकता है।
नरसंडा के कृषक रामसिंह सुंडी ने बताया कि अधिकतर कृषकों के पास सिंचाई का साधन नहीं है। बारिश पर सभी निर्भर रहते हैं। वर्तमान में हो रही देरी से इसका प्रभाव धान के फसल पर पड़ सकता है। उल्लेखनीय है कि पश्चिम सिंहभूम जिले में 186000 हैक्टेयर भूमि पर धान की खेती का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें 110000 हैक्टेयर भूमि पर छीटा विधि से धान की खेती की जाती है। 75 हजार हेक्टेयर भूमि पर रोपाई विधि से धान की खेती होती है। धान की खेती के लिए पर्याप्त बारिश की जरूरत होती है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।