अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पद्मावती जैन सरस्वती शिशु विद्या मंदिर के बच्चे सीखेंगे तीरंदाजी

पद्मावती जैन सरस्वती शिशु विद्या मंदिर के बच्चे सीखेंगे तीरंदाजी

अब पद्मावती जैन सरस्वती शिशु विद्या मंदिर के बच्चे भी सीखेंगे तीरंदाजी। रविवार को तीरंदाजी कक्षा का विधिवत उद्घाटन किया गया। विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान के क्षेत्रीय संगठन मंत्री दिवाकर घोष, विद्या विकास समिति झारखंड प्रदेश के मुकेश नंदन, सह सचिव रामावतार साहू विद्यालय के सह सचिव परमानंद महतो प्रधानाध्यापक कृष्ण कुमार सिंह तथा अरविन्द कुमार पाडेंय ने संयुक्त रूप से भारत माता तथा सरस्वती माता के चित्र पर पूष्प अर्पित कर दीप जलाकर किया। प्रधानाचार्य कृष्ण कुमार सिंह ने बताया कि स्कूल में पढ़ रहे छात्र -छात्राएं पढ़ाई के साथ-साथ खेलकूद में भी आगे रहे इसलिए स्कूल में तीरंदाजी कक्षा का उद्घाटन किया गया है। यह भारत के प्राचीन खेलों में से एक है। इस खेल से विद्यार्थी लक्ष्य निर्धारण की कला को सीखेंगे, जो उन्हें अध्ययन के क्षेत्र में लाभ पहुंचाएगा। उन्होंने कहा कि आधुनिक समय में तीरंदाजी पहले से ही ओलंपिक खेलो में स्थान बना चूका है। इस दृष्टि से तीरंदाजी का यह वर्ग छात्र-छात्राओं के लिए उपयोगी साबित होगा। उन्होंने बताया कि इसकी प्रशिक्षिका अनिता सामड हैं, जो प्रतिदिन सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक खिलाड़ियों को प्रशिक्षित कराती हैं। उन्होंने बताया कि स्कूल के जो छात्र-छात्राएं क्षेत्रीय तीरंदाजी प्रतियोगिता के लिए चयनित हुए हैं, वे सभी चेन्नाई जाएंगे। इस मौक पर विद्यालय के शिक्षक सुरेश कुमार, संजय कुमार, अयोध्या पांडेय, नरेश राम, सुनील चांपिया व सभी तीरंदाजी के छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Children of Padmavati Jain Saraswati Shishu Vidya Mandir will learn archery