DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ईवीएम व वीवीपैट के बारे में बताया

चिन्मय विद्यालय में आयोजित 12 दिनों के शैक्षणिक शिविर का समापन गुरुवार को हो गया। शिविर में संगीत, नृत्य, कला एवं खेल से जुड़े अनेक कार्यक्रम कराए गए, जिसमें बच्चों ने भरपूर मनोरंजन के साथ-साथ अन्य विद्याओं की जानकारियां प्राप्त की।

12 दिनों तक चलने वाले इस शैक्षणिक सत्र में जहां एक ओर बच्चों को आध्यात्म से जोड़ने की कोशिश की गई। वहीं, उनकी छुपी हुई प्रतिभाओं को भी तराशने की भी पहल हुई। बच्चों को अपनी रुचि अनुसार संगीत, नृत्य, कला एवं खेल में प्रशिक्षण दिया गया। समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में चिन्मय मिशन बोकारो की आचार्या स्वामीणी संयुक्तानंद सरस्वती मौजूद थी। उन्होंने बच्चों को सृजनात्मक होने का संदेश दिया। बच्चों को अधुनिकता के आसमान को छूने के साथ-साथ अपनी संस्कार की जड़ों से भी जुड़े रहने को कहा। शिविर में संगीत का प्रशिक्षण पद्मा घरई, शिक्षक शिबेन चक्रवर्ती, जय कृष्ण राठौड़, रूपक झा एवं दिनेश कुमार ने दिया। वहीं, कला का प्रशिक्षण शिक्षिका कवीता सिन्हा, सोमा रॉय एवं हिमांशी टंक ने दिया। शिक्षिका रेणु साह ने नृत्य का प्रशिक्षण दिया। बच्चों को खेल-कूद व शारीरिक प्रशिक्षण शिक्षक संजीव सिंह, प्राजंाल व फ्यूजन गुप ने दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Told about EVM and VVPAT