अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरितालिका का इस बार 11 व 12 को शुभ मुहूर्त

हरितालिका व्रत भाद्र पद शुक्ल पक्ष तृतीया तिथि को मनाया जाता है। इस बार तृतीया तिथि का शुभ मुहूर्त 11 सितंबर की शाम 7.54 बजे से 12 सितंबर शाम 6.38 बजे तक है। यह व्रत महिलाओं के परम सौभाग्य का व्रत है। सौभाग्यवती महिलाएं अपने पति की दीर्घायु की कामना के लिए हरितालिका व्रत करती हैं, जबकि कुंवारी कन्याएं अपने भावी सुयोग्य वर की प्राप्ति के लिए करती हैं। उक्त बातें सिटी सेंटर सेक्टर-4 के प्रसिद्ध ज्योतिषी पंडित मार्कंडेय दूबे ने कहीं।

उन्होंने कहा कि तृतीया तिथि अगर दिन में हो और रात्रि में चतुर्थी तिथि का प्रवेश हो रहा हो, तो बहुत शुभ माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार सर्वप्रथम मां पार्वती ने भगवान शिव को पाने के लिए यह व्रत किया था, जिस समय मां पार्वती ने हरितालिका व्रत किया, उस दिन तृतीया तिथि में हस्त नक्षत्र का संयोग था। इस बार भी परम सौभाग्यदायक संयोग बन रहा है। मां पार्वती 12 वर्ष अधोमुख होकर रहीं और धुआं पीकर व्रत के नियमों का पालन कर तपस्या की थीं। हरितालिका व्रत करने से अधिक परहेज बहुत जरूरी होता है। तृतीया तिथि पर व्रत कर रही महिलाओं को अन्न नहीं खाना चाहिए। समापन के बाद व्रतियों को खाना खाने का प्रावधान है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:This time 11th and 12th of Haritika is auspicious time