Shab-e-Barat today - शब-ए-बारात आज DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शब-ए-बारात आज

जिलेभर में मंगलवार को आयोजित शब-ए-बारात की तैयारी अंतिम चरण में है। इस दौरान मुस्लिम परिवारों की ओर से अपने पूर्वजों के ईसाल-ए-सवाब के लिए फातेहा पढ़ने के साथ दुआओं का दौर चलेगा। जिले की कब्रिस्तान और मस्जिदों को रौशन किया गया है। मुस्लिम समुदाय की ओर से करमाटांड़, उकरीद, सिवनडीह, मखदुमपुर, भर्रा समेत अन्य जगहों पर कब्रिस्तानों में रोशनी की खास व्यवस्था की जा रही है, जहां लोग रातभर अल्लाह की इबादत करेंगे। वहीं अपने परिजनों के गुनाहों से निजात मगफिरत के लिए भी दुआएं होंगी। इसके लिए कई जगहों पर सामूहिक दुआ का आयोजन किया जाएगा। शहर की मस्जिदों में इबादत और कब्रिस्तान में दुआ करने पहुंचने वालों की सुविधा के लिए प्रकाश, पानी समेत अन्य व्यवस्था की गई है। कब्रिस्तान जाने वाली सड़कें दुरुस्त की गईं। खासकर सिवनडीह स्थित कब्रिस्तान की साफ-सफाई की गई। मंगलवार को रात्रि के समय इबादतगाह और कब्रिस्तानों को बिजली की रौशनी से सजाया जाएगा। शब-ए-बारात के दिन इबादत के बाद सेहरी खाकर लोग नफिल रोजा रखेंगे। उकरीद के कारी रिजवानुल होदा ने बताया कि इस्लामी कैलेंडर के शाबान महीने की 15वीं रात को मुस्लिम धर्मावलंबियों का पवित्र त्योहार शब-ए-बारात मनाया जाता है। इस वर्ष यह त्योहार मंगलवार की रात मनाया जाएगा। पर्व के दौरान मुस्लिम धर्मावलंबी रातभर अल्लाह की इबादत करते हैं। बाद में कब्रिस्तान जाकर अपने दिवंगत परिजनों के लिए दुआ-खैर करते हैं। दूसरे दिन अधिकांश लोग रोजे भी रखते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Shab-e-Barat today