ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड बोकारोडीवीसी के खिलाफ आक्रोश, 10 जून से कोलकाता में भूख हड़ताल

डीवीसी के खिलाफ आक्रोश, 10 जून से कोलकाता में भूख हड़ताल

डीवीसी की मान्यता प्राप्त सीटू से संबद्ध डीवीसी श्रमिक यूनियन वे उसके सहयोगी यूनियनों का ज्वाइंट कन्वेंशन बुधवार को चंद्रपुरा क्लब में संपन्न...

डीवीसी के खिलाफ आक्रोश, 10 जून से कोलकाता में भूख हड़ताल
हिन्दुस्तान टीम,बोकारोThu, 30 May 2024 01:16 AM
ऐप पर पढ़ें

चंद्रपुरा, प्रतिनिधि।
डीवीसी की मान्यता प्राप्त सीटू से संबद्ध डीवीसी श्रमिक यूनियन वे उसके सहयोगी यूनियनों का ज्वाइंट कन्वेंशन बुधवार को चंद्रपुरा क्लब में संपन्न हुआ। इसमें डीवीसी मुख्यालय कोलकाता में 10 जून से होने वाले भूख हड़ताल और अन्य मुद्दे पर विस्तार से चर्चा की गई। डीवीसी की विभिन्न यूनिटों के यूनियन प्रतिनिधियों ने इसमें भाग लिया तथा डीवीसी के वर्तमान प्रबंधन की नीतियों की कड़ी निंदा की।

ज्वाइंट प्लेटफार्म ऑफ डीवीसी पेंशनर एंड इम्प्लाई के संयोजक सह श्रमिक यूनियन के नेता जीवन आइच ने कहा कि डीवीसी प्रबंधन समाज के प्रति अपनी जिममेवारी को नजरअंदाज कर लाभ कमाने वाला उद्योग समझ रहा है। पहले डीवीसी में रोजगार के अवसर पैदा होते थे। कैजुअल, कंपेसनेट, अप्रेंटिस आदि से संबंधित कई भर्तियां निकाली। कई विभाग के कर्मियों की नौकरी स्थाई की गई पर अब सभी तरह की भर्तियों को रोक दिया गया है। समान काम के बदले समान वेतन की प्रथा को अंगूठा दिखाते हुए आज डॉक्टर, टीचर, प्रबंधक, पैरामेडिकल, इंजीनियर आदि को संविदा के तहत बहाल कर रहा है। अब तो पेंशन में भी आउटसोर्सिंग आ गया है। नई पेंशन स्कीम लागू की जा रही है। ट्रांसफर की कोई नीति नहीं है। कई बार हेडक्वार्टर कोलकाता में उच्च प्रबंधन के साथ बातचीत हुई मगर डीवीसीकर्मियों की लंबित मांगों पर किसी तरह का ध्यान नहीं दिया गया। बाध्य होकर 10 जून से डीवीसी प्रबंधन के खिलाफ भूख हड़ताल का निर्णय लेना पड़ा है। इस कन्वेंशन में श्रमिक यूनियन के महामंत्री अभिजीत राय, स्टॉफ एसोसिएशन के अनिल प्रसाद, सुभाष दूबे, पेंशनर एसोसिएशन के वी राम, शंकर पाठक, सुनील कर्ण, कर्मचारी संघ के सुब्रतो मिश्रा व एचएमकेयू सहित अन्य यूनियन के प्रतिनिधियों ने अपने विचार रखे।

पावर प्लांटों का चक्का जाम करें: अनूप सिंह

चंद्रपुरा। इंटक से संबद्ध डीवीसी कर्मचारी संघ के केंद्रीय अध्यक्ष सह बेरमो विधायक कुमार जयमंगल ने भी इस कन्वेंशन में कुछ देर के लिए भाग लिया तथा कहा कि भूख हड़ताल से डीवीसी उच्च प्रबंधन पर कोई असर पड़ने वाला नहीं है। जब तक इसके पावर प्लांटों का चक्का जाम नहीं कर दिया जाता मांगे नहीं मिलेगी। जयमंगल ने कहा कि जब-जब चंद्रपुरा और बोकारो थर्मल का चक्का जाम किया गया है कुछ न कुछ हासिल हुआ है। उन्होंने डीवीसी श्रमिक यूनियन सहित अन्य यूनियन नेताओं को विश्वास दिलाया कि वे डीवीसीकर्मियों के हित के लिए उनके साथ हैं। श्रमिक यूनियन द्वारा विधायक को मांग पत्र भी सौंपा गया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।