Monday, January 24, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड बोकारोढोरी प्रक्षेत्र में नई कल्याणी-तारमी परियोजना जल्द शुरू होगी

ढोरी प्रक्षेत्र में नई कल्याणी-तारमी परियोजना जल्द शुरू होगी

हिन्दुस्तान टीम,बोकारोNewswrap
Sun, 05 Dec 2021 02:10 PM
ढोरी प्रक्षेत्र में नई कल्याणी-तारमी परियोजना जल्द शुरू होगी

भंडारीदह। डीके ठाकुर

सीसीएल ढोरी प्रक्षेत्र में प्रस्तावित सबसे बड़ी परियोजना खोलने के लिए प्रबंधन ने प्रकिया चालू व तेज भी कर दी है। इस नये परियोजना का नामकरण कल्याणी-तारमी दिया गया है। इसे लेकर प्रबंधन ने अपनी प्रोजेक्ट रिपोर्ट सीएमपीडीआई रांची को सुपुर्द कर दिया है। यहां से अनुशंसा होते ही कोल इंडिया बोर्ड कोलकाता को स्वीकृति के लिए भेजा जायेगा। इसके पश्चात कल्याणी-तारमी परियोजना अपने अस्तित्व में आ जायेगा। और डिपार्टमेंटल एवं आउटसोर्सिंग के तहत लगभग बीस वर्ष तक कोयला उत्पादन किया जा सकता है। अगर यह परियोजना खुलती है तो ढोरी प्रक्षेत्र के लिए सबसे बड़ी परियोजना के साथ-साथ देश के लिए बीस वर्ष तक कोयला मिलता रहेगा।

48 मिलियन टन कोयला का अकूत भंडार: नये परियोजना के लिए 07 सौ 53 प्वाइंट 07 हेक्टेयर जमीन से कोयला उत्पादन किया जायेगा। सीसीएल ढोरी प्रक्षेत्र के सर्वे एवं प्रोजेक्ट एण्ड प्लानिंग विभाग के अनुसार लगभग 48 मिलियन टन कोयला का अकूत भंडार है। इतना कोयला उत्खनन के लिए लगभग 03 सौ मिलियन क्यूबिक मीटर ओबी रिमूवल करना होगा।

03 परियोजना को किया जायेगा शामिल: कल्याणी-तारमी परियोजना के लिए इसमें तीन परियोजना को एक साथ शामिल किया गया है। इसमें कल्याणी, तारमी एवं तीसरी नाला (सीएचपी) की जमीन एक साथ मिलाकर प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करके सीएमपीडीआई को भेजा गया है। तीसरी नाला में सीएचपी का निर्माण कराया गया था जिसे वर्ष 2016 से बंद कर दिया गया है।

ढोरी प्रक्षेत्र के महाप्रबंधक ने क्या कहा है: एमके अग्रवाल ने कहा कि इस नये परियोजना के खुलने से कई रैयतों को नौकरी व मुआवजा मिलेगा, वहीं आसपास के ग्रामीणों को भी रोजगार का अवसर मिल सकेगा। नई परियोजना कल्याणी-तारमी के लिए काफी तीव्र गति से काम आगे बढ़ रहा है। इससे करीब 18-20 वर्षों तक कोयला उत्पादन किया जायेगा जो प्रक्षेत्र का भविष्य होगा।

epaper

संबंधित खबरें