DA Image
28 फरवरी, 2020|12:50|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पिंड्राजोरा में मनी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती

पिंड्राजोरा में मनी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 123वीं जयंती गुरुवार को मनाई गई। पिंड्राजोरा मुख्य चौक पर स्थापित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया गया। समाज के विभिन्न वर्गों के लोगों ने उन्हें याद करते हुए नेताजी के जीवन के विभिन्न आयाम पर प्रकाश डालते हुए कहा कि नेताजी जैसा प्रखर राष्ट्रवादी नेता आज के समय के लिए बहुत जरूरी है।

उनके संगठन शक्ति एवं अदम्य साहस के बारे में कहा कि वह केवल भारत के स्वतंत्रता संग्राम के ही नेता नहीं थे, बल्कि विश्व के साम्राज्यवादी शक्तियों के विरुद्ध संघर्ष करने वाले अग्रणी नेता थे। स्वतंत्रता आंदोलन में उनके प्रवेश करते ही आंदोलन की दिशा बदल गई थी।

उनका विश्वास था आजादी मांगने से नहीं मिलेगी, बल्कि लड़कर हासिल करना होगा। इसके लिए उन्होंने आजाद हिन्द फौज जैसा सैनिक संगठन बनाया। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व मुखिया गोरा चांद महतो एवं संचालन संतोष कुमार महतो ने किया। नंदलाल महतो, बाटुल प्रमाणिक, विक्रम महथा, खलील अंसारी, आनंद मार्ग प्रचारक संघ के आचार्य ज्योति प्रकाशानंद अवभूत, तत्व वेदानंद अवभूत सहित अन्य मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Money anniversary of Netaji Subhash Chandra Bose in Pindrajora