DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड विस्थापित मोर्चा ने किया पुतला दहन

बोदरोटांड़ में रविवार को जय झारखंड विस्थापित मोर्चा ने बोकारो विधायक का पुतला दहन किया। कार्यक्रम का नेतृत्व जय झारखंड विस्थापित मोर्चा के अध्यक्ष सह झामुमो नेता उदय गोस्वामी ने किया। उन्होंने कहा कि भाजपा विधायक और मुख्यमंत्री का आदिवासी-मूलवासी और विस्थापित विरोधी मानसिकता सामने आ गई है। कनारी और मानगो पंचायत की 1400 एकड़ जमीन भूमि वापसी के नाम पर आदिवासी-मूलवासी से जबरन बलपूर्वक खरीदकर अडानी और अन्य बड़े-बड़े उद्योगपतियों को देने की योजना बन रही है। मौके पर लाल मोहन हेमब्रम ने कहा कि यदि सरकार विस्थापितों की जमीन वापस करना चाहती है, तो वह 1400 एकड़ भूमि बोकारो प्रबंधन से लेकर सीधे रैयत को देने की घोषणा क्यों नहीं कर रही है। एक तरफ बोकारो विधायक सदन में विस्थापित गांवों को पंचायत में शामिल करने की मांग कर रहे हैं, तो दूसरी ओर कनारी और मानगो के रैयतों को बेघर करने की योजना बन रही है। धीरन महतो ने कहा कि केंद्र सरकार बड़े-बड़े उद्योगपतियों को खुश करने के लिए कनारी और मानगो की जमीन लूटने का काम कर रही है, ताकि आगामी चुनाव में उद्योगपतियों से अधिक से अधिक चंदा मिले। विस्थापितों को एकजुट कर बड़ा जन आंदोलन किया जाएगा। ज्योतिलाल सोरेन ने कहा कि सरकार भूमि वापसी के नाम पर आदिवासी व मूलवासियों की जमीन छीनकर बाहरी लोगों को बसाने का प्रयास कर रही है, जिसका विस्थापित विरोध करेंगे। मौके पर बिनोद महतो, सिताराम हासदा, दुर्गा मांझी, कामेश्वर, फुलेसर व उमेश मांझी आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Jharkhand displaced Morcha did the effigy of combustion