ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड बोकारोपहले मतदान कर देश का कर्ज उतारा फिर शवों का दाह-संकार

पहले मतदान कर देश का कर्ज उतारा फिर शवों का दाह-संकार

घर में पिता की लाश पड़ी थी। शमशान घाट ले जाने की सारी तैयारी पूरी कर ली गई थी, लेकिन तभी बेटों ने कहा पहले मतदान...

पहले मतदान कर देश का कर्ज उतारा फिर शवों का दाह-संकार
हिन्दुस्तान टीम,बोकारोSun, 26 May 2024 12:30 AM
ऐप पर पढ़ें

घर में पिता की लाश पड़ी थी। शमशान घाट ले जाने की सारी तैयारी पूरी कर ली गई थी, लेकिन तभी बेटों ने कहा पहले मतदान करेंगे फिर पिता का अंतिम संस्कार करेंगे। शनिवार को बेरमो के नावाडीह प्रखंड अंतर्गत ऊपरघाट क्षेत्र के नारायणपुर में दो अनोखा मामला देखने को मिला, जहां दो बेटों ने पहले देश का कर्ज उतारा उसके बाद अपने पिता का अंतिम संस्कार कर पुत्र होने का फर्ज पूरा किया।
पहली घटना : नारायणपुर गांव निवासी सेवानिवृत्त सीसीएलकर्मी फालो महतो की मौत शुक्रवार की रात हो गयी थी। शनिवार की सुबह मृतक के पुत्र लालचंद महतो व कृष्णा कुमार महतो ने पिता के अंतिम संस्कार की सारी तैयारी कर ली। तभी यकायक यह ध्यान आया कि आज क्षेत्र में मतदान चल रहा है। ऐसे में पहले मतदान करना जरूरी समझा। हालांकि घर वाले और आसपास के अन्य ग्रामीणों ने पहले पिता का अंतिम संस्कार करने की बात कही, लेकिन बेटों ने निश्चय कर पिता की अर्थी को घर में ही छोड़कर पहले मतदान किया। इसके बाद पिता का अंतिम संस्कार किया। दोनों बेटे सपरिवार के साथ सुबह मे जब क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 213 पर अपने मताधिकार का प्रयोग करने पहुंचे तो आसपास के लोग यहदेख आश्चर्यचकित रह गए। चूंकि सभी को इस बात की जानकारी थी कि इनके पिता की रात में निधन हो गया। हालांकि इस कदम की लोग मुक्त हृदय से प्रशंसा कर रहे हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।