ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड बोकारोबोकारो में शांति व सौहार्द के साथ मना ईद-उल-अजहा

बोकारो में शांति व सौहार्द के साथ मना ईद-उल-अजहा

सोमवार को बोकारो के मुस्लिम बाहुल क्षेत्रों में कुर्बानी का त्यौहार ईद-उल-अजहा शांति व सौहार्दपूर्ण तरीके से मनाया गया। बकरीद के अवसर पर ईदगाह व...

बोकारो में शांति व सौहार्द के साथ मना ईद-उल-अजहा
default image
हिन्दुस्तान टीम,बोकारोMon, 17 Jun 2024 06:30 PM
ऐप पर पढ़ें

सोमवार को बोकारो के मुस्लिम बाहुल क्षेत्रों में कुर्बानी का त्यौहार ईद-उल-अजहा शांति व सौहार्दपूर्ण तरीके से मनाया गया। बकरीद के अवसर पर ईदगाह व मस्जिदो में विशेष नमाज का आयोजन हुआ। सुबह से ही लोग नहाधुआ कर इत्र लगा, टोपी व पगड़ी पहनकर विभिन्न ईदगाह व मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए पहुंचे। सिवनडीह, मखदुमपुर, डुमरो, आजादनगर, भर्रा, गौसनगर, अंसारी मुहल्ला, मोहनडीह, घटियाली, धनगरी, सेक्टर 9, बालीडीह, तुपकाडीह, इस्लामपुर, मिल्लत नगर, सिजुआ, सुल्तान नगर, न्यू पिन्डरगड़िया, सोलागिडीह, उत्तरी क्षेत्र, आगरडीह, महेशपुर, पिपराटांड़, वास्तेजी, रामडीह, दक्षिणी क्षेत्र, सोनाबाद, नारायणपुर, गोपालपुर, कुर्रा आदि जगहों पर नमाज अता करने के लिए काफी संख्या में लोग जुटे।
त्याग व बलिदान को किया गया याद : नमाज अता करने के दौरान बच्चो में काफी उत्साह देखा गया। ईदगाह व मस्जिदों में नमाज अदा करने के बाद सभी लोगों ने एक-दूसरे से गले मिलकर ईद-उल-अजहा कुर्बानी की मुबारकबाद दी। लोगों ने बोकारो के साथ-साथ देश में अमन-चैन, आपसी भाईचारा, सांप्रदायिक सद्भाव बना रहने की दुआ की। मोमिन वेलफेयर एंड डेवलपमेंट सोसाइटी के प्रधान सचिव रिजवान उर्फ कारी साहब ने कहा कि यह त्यौहार ईश्वर के आदेश के अनुपालन में अपने इकलौते बेटे की कुर्बानी देने के लिए हजरत इब्राहिम की तत्परता की याद में मनाया जाता है। इसे सच्ची वफादारी, त्याग बलिदान व कुर्बानी मानी जाती है। यह तभी मुमकिन हो सकता है, जब अपना सब कुछ अल्लाह के हवाले कर दिया गया हो।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।