DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › बोकारो › बोकारो : गड्ढे में फंसी एंबुलेंस, मरीज की जान पर आफत
बोकारो

बोकारो : गड्ढे में फंसी एंबुलेंस, मरीज की जान पर आफत

हिन्दुस्तान टीम,बोकारोPublished By: Newswrap
Sat, 10 Jul 2021 11:10 AM
बोकारो : गड्ढे में फंसी एंबुलेंस, मरीज की जान पर आफत

बोकारो की कई महत्वपूर्ण सड़कें जानलेवा बन चुकी हैं। शुक्रवार को 12.30 बजे पुलिस लाइन की ओर से आ रही एंबुलेंस सड़क पर बने गड्ढे में फंस गई। जिस कारण उसमें मौजूद मरीज को काफी देर बाद सदर अस्पताल पहुंचाया गया।

सेक्टर 12 बी एटीएम के समीप सड़क पर बने गड्ढे में जल जमाव के कारण एंबुलेंस के ड्राइवर को बड़े गड्ढे होने की भकन तक नहीं लगी। जब एंबुलेंस का चक्का गड्ढे में फंसा तो करीब आधे घंटे तक एंबुलेंस निकालने का प्रयास किया गया। लेकिन, एंबुलेंस गड्ढे में फंसा रही। जिसके बाद उक्त एंबुलेस की मरीज को दूसरी एंबुलेंस से सदर अस्पताल ले जाया गया। जानकारी के मुताबित जैनामोड़ रेफरल अस्पताल से एक मरीज लेकर सदर अस्पताल एंबुलेंस से रही थी। इस दौरान मरीज की स्थिति काफी खराब हो रही थी। एंबुलेंस के चालक लखीराम मुर्मू ने सूझबुझ कर परिचय देते हुए साथी एंबुलेंस चालक को फोन किया। जो करीब आधे घंटे बाद पहुंचकर मरीज को अपने साथ लेकर अस्पताल पहुंचा। इस बीच सड़क पर बने गढ़े से एंबुलेंस निकालने की खिंचतान जारी रही। स्थानीय लोगो की मदद से अन्य एंबुलेंस के सहारे करीब 5 घंटे बाद एंबुलेंस को बाहर निकाला जा सका।

मरीज की जान पर बनी आफत : पाखुड़िया निवासी आदित्य महतो की 30 वर्षिय पत्नी फुलमनी देवी का इलाज जैनामोड़ रेफरल अस्पताल में चल रहा था। जहां शुक्रवार की सुबह पेट फुलने से फुलमनी देवी की हालत खराब हो गई। स्थिति खराब होने पर एंबुलेंस के सहारे मरीज को डायग्नोशिस के लिए सदर अस्पताल भेजा गया था। एंबुलेंस संख्या जेएच 01 सीजे 2749 से चालक लखीराम मुर्मू सदर अस्पताल के लिए रवाना हुए। पुलिस लाईन से सेक्टर 12 की ओर जाने वाली सड़क पर बने गढ़े में अचानक एंबुलेंस फस गई। काफी देर तक वाहन केगढ़े में फंसे होने की वजह से मरीज के परिजन बैचेन दिखे। वहींएंबुलेंस चालक कुछ करने की स्थिति में नहीं था।

संबंधित खबरें