DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सल बंद को लेकर बोकारो में अलर्ट

नक्सली 28 जुलाई से तीन अगस्त तक शहादत सप्ताह मना रहे हैं। शहादत सप्ताह के अंतिम दिन तीन अगस्त को नक्सलियों ने बिहार-झारखंड बंद का ऐलान किया है। स्पेशल ब्रांच की रिपोर्ट पर पुलिस मुख्यालय के अलर्ट के आलोक में बोकारो पुलिस सतर्क है। आशंका के मद्देनजर बोकारो एसपी कार्तिक एस ने उग्रवाद प्रभावित थानों को अलर्ट कर दिया है। बोकारो से सटे पड़ोसी जिले के सीमावर्ती इलाकों की घेराबंदी कर सघन जांच अभियान चलाया जा रहा है। नक्सलियों के शहादत सप्ताह मनाए जाने वाले संभावित ठिकानों पर सूचना तंत्र के आधार पर मूवमेंट किया जा रहा है। आशंका जाहिर की गई कि शहादत सप्ताह में नक्सली अपनी उपस्थित दर्ज कराने के लिए विध्वंसक कार्रवाई कर सकते हैं। विकास योजना से लेकर पुलिस पार्टी को निशाना बना सकते हैं। बेरमो अनुमंडल के उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र के स्कूल, सरकारी भवन और रेल लाइन लगातार नक्सलियों के निशाने पर रहे हैं। खासकर भारतीय अर्थव्यवस्था में अहम स्थान रखने वाले सीआईसी रेलखंड नक्सलियों के निशाने पर रहे हैं। बोकारो के उग्रवाद प्रभावित लगभग 40 किलोमीटर के इलाके से होकर सीआईसी रेलखंड गुजरता है, जो सुदूरवर्ती जंगली इलाका है, जिसका फायदा उठाकर नक्सली लगातार अहम रेलखंड को निशाना बनाते रहे हैं। 2017 में शहादत सप्ताह में रेलखंड पर लगातार चार अटैक कर भारी नुकसान पहुंचाया गया। इसको देखते हुए रेल आईजी और बोकारो पुलिस के बीच उच्चस्तरीय वार्ता हुई, जिसमें सीआईसी रेलखंड की सुरक्षा के लिए पैमाना तय किया गया था। सीआईसी रेलखंड के जरिए कोल सेक्टर से उत्पादित कोयले की ढुलाई होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Alert in Bokaro for Naxal offense