DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › बोकारो › अच्छी बारिश के बाद हल-बैल लेकर खेतों में उतरे किसान
बोकारो

अच्छी बारिश के बाद हल-बैल लेकर खेतों में उतरे किसान

हिन्दुस्तान टीम,बोकारोPublished By: Newswrap
Wed, 30 Jun 2021 06:10 AM
अच्छी बारिश के बाद हल-बैल लेकर खेतों में उतरे किसान

बोकारो थर्मल। रामचंद्र कुमार अंजाना

बेरमो अनुमंडल के ग्रामीण क्षेत्रों में एक पखवाड़ा से हो रही बारिश थमने के बाद खेती के काम में तेजी आ गयी है। भारी बारिश के बाद खेतों में पानी भर गया था। लेकिन दो दिन से बारिश बंद है एवं खेतों में भरा पानी निकलने लगा है। इसके साथ ही किसानों ने बुआई के लिए खेतों में जुताई शुरू कर दी है। हालांकि मौसम विभाग ने आगे भी बारिश की चेतावनी दी है। जिसे लेकर किसान चितिंत भी नजर आ रहे हैं। किसान खाट छोड़ खेती बारी में जुट गए हैं। इन दिनों ग्रामीण क्षेत्रों में सुबह होते ही किसान अपनी-अपनी खेतों की जुताई में लग गए हैं।

समय से पहले पहुंचा मानसून: जून में समय से पहले ही मानसून आने के कारण खेतों में पानी लग गया था। इससे धान का बिचड़ा नहीं गिराया जा सका। मंगलवार को भी दिनभर धूप देखने को मिली। बेरमो अनुमंडल के गोमिया, नावाडीह व पेटवार प्रखंड के 80 फीसद ग्रामीणों की जीविका कृषि पर निर्भर है। जबकि खेती कार्य आज भी मानसून पर निर्भर है। हालांकि सरकारी स्तर पर तालाब, चेकडैम, सिंचाई कूप आदि का निर्माण कराया गया है। लेकिन किसानों को इसका लाभ नहीं मिल पाता है।

खेती के काम में जुटे किसान: दो दिनों से आसमान में बादल छाए हुए हैं। बीते सप्ताह भर से अनुमंडल में कहीं हल्की तो कहीं अच्छी बारिश हुई। बारिश थमने के बाद किसान एक बार फिर से पूरे उत्साह के साथ धान की फसल की तैयारी में जुट गए हैं। रोहिणी नक्षत्र के पहले से लगातार बारिश होने से धान का बीज समय पर खेत में डाला नहीं जा सका था। किसान नुनूचंद महतो, गंगाराम महतो, दिलीप महतो आदि ने कहा कि सरकारी स्तर पर खाद व बीज समय पर उपलब्ध नहीं कराया जाता है। जिस कारण दुकानदार मनमानी दाम पर खाद और बीज बेचते हैं।

संबंधित खबरें