ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड बोकारोसाउथ ईस्टर्न रेलवे में 1001 असिस्टेंट लोको पायलट होंगे बहाल

साउथ ईस्टर्न रेलवे में 1001 असिस्टेंट लोको पायलट होंगे बहाल

लंबे समय से बहाली की मांग कर रहा था संघ, रेलवे जॉब्स--साउथ ईस्टर्न रेलवे में 1001 असिस्टेंट लोको पायलट होंगे बहालरेलवे जॉब्स--साउथ ईस्टर्न रेलवे में...

साउथ ईस्टर्न रेलवे में 1001 असिस्टेंट लोको पायलट होंगे बहाल
हिन्दुस्तान टीम,बोकारोThu, 20 Jun 2024 12:30 AM
ऐप पर पढ़ें

रेलवे में लोको पायलट की कमी को देखते हुए असिस्टेंट लोको पायलट की बहाली की जाएगी। जिससे न सिर्फ साउथ इस्टर्न रेलवे के लोको पायलटों को राहत मिलेगी। बल्कि अब उन्हें उनकी इच्छा के अनुसार छुट्टी भी मिलना संभव हो जाएगा। मालूम हो कि रनिंग लोको पायलट का संघ एलारसा लंबे समय से रेलवे में खाली पदों पर बहाली की मांग कर रही थी। रेलवे बोर्ड की ओर से साउथ इस्टर्न रेलवे में कुल 1001 एएलपी के पद स्वीकृत हैं। जिसमें से फिलहाल 300 असिस्टेंट लोको पायलट बहाल किए जाएंगे। लोको पायलटो का कहना है कि जल्द से जल्द खाली पद भरने चाहिए। लोको पायलट की कमी रहने से रेस्ट व प्रशिक्षण जैसे कार्य भी प्रभावित हो रहे हैं।

30 प्रतिशत अतिरिक्त हों लोक पायलट: एलारसा

ऑल इंडिया लोको रनिंग स्टाफ एसोसिएशन की ओर से स्टाफ की कमी और इससे होने वाली परेशानियों को लेकर बार-बार आवाज उठाई जा रही थी। 300 पदों पर असिस्टेंट लोको पायलट की बहाली पर ऑल इंडिया लोको रनिंग स्टाफ एसोसिएशन एलारसा के जोनल महासचिव एसपी सिंह ने बताया कि दक्षिण पूर्व रेलवे मे अभी करीब आरआरबी से 1001पद एएलपी के जीडीसीई (डिपार्टमेंट के प्रमोशन से) से करीब 847 एएलपी लेने की बात सामने आई है। वास्तविक स्थिति यह है कि अभी भी करीब 1000 और सहायक लोको पायलट की जरूरत होगी। एसपी सिंह ने कहा कि कि 30% छुट्टी के लिए और 10% ट्रेनिंग के लिए अतिरिक्त लोको पायलट होने चाहिए। ताकि रेलवे का परिचालन बेहतर तरिके से किया जा सके। जबकि अभी केवल 5% से 10% तक लोको पायलटों को औसत छुट्टी नहीं मिल पा रही है। लोको पायलटों की ड्यूटी 12 से 15 घंटे लगभग हो रही है और रेस्ट भी समय से नहीं मिल पा रहा है। जिससे उनके स्वास्थ पर प्रतिकूल असर पड़ता है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।