ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड आदित्यपुरचोरी-छिपे जमीन की बिक्री को लेकर पालुबेड़ा के ग्रामीणों ने डीसी को सौंपा ज्ञापन

चोरी-छिपे जमीन की बिक्री को लेकर पालुबेड़ा के ग्रामीणों ने डीसी को सौंपा ज्ञापन

गम्हरिया।डुमरा पंचायत के पालुबेड़ा में भू-माफियाओं द्वारा बिना ग्रामसभा के ही चोरी-चुपके जमीन की खरीद-बिक्री शुरू किये जाने से ग्रामीणों में आक्रोश...

चोरी-छिपे जमीन की बिक्री को लेकर पालुबेड़ा के ग्रामीणों ने डीसी को सौंपा ज्ञापन
चोरी-छिपे जमीन की बिक्री को लेकर पालुबेड़ा के ग्रामीणों ने डीसी को सौंपा ज्ञापन
हिन्दुस्तान टीम,आदित्यपुरTue, 11 Jun 2024 03:45 PM
ऐप पर पढ़ें

गम्हरिया।डुमरा पंचायत के पालुबेड़ा में भू-माफियाओं द्वारा बिना ग्रामसभा के ही चोरी-चुपके जमीन की खरीद-बिक्री शुरू किये जाने से ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। इसी को लेकर मंगलवार को ग्राम प्रधान धरमु माझी के नेतृत्व में सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण किसान कांड्रा मोड़ से उपायुक्त को ज्ञापन सौंपने के लिए सरायकेला रवाना हुए। ग्राम प्रधान धरमु माझी के साथ गांव के ग्रामीण एवं किसानों का कांड्रा मोड़ में जुटान हुआ। यहां भू माफियों के प्रति आक्रोश व्यक्त किया। बताया गया कि बिना ग्राम सभा के स्वीकृति के ही खरीद-बिक्री की गयी जमीन का म्यूटेशन रद्द नहीं होने तक आंदोलन जारी रहेगा। ग्राम प्रधान धरमु माझी ने भू माफियों के प्रति आक्रोश व्याप्त करते हुए कहा कि इस क्षेत्र में भारतीय संविधान का पांचवीं अनुच्छेद 244(1) उपबंध के साथ - साथ पेसा एक्ट 1996 और सीएनटी एक्ट 1908 भी लागू है, परंतु राजस्व ग्राम पालु बेड़ा में बिना ग्राम सभा की अनुमति के बाहरी गैर आदिवासी द्वारा अवैध तरीके से सीएनटी और गैर सीएनटी भूमि जिसका खाता संख्या 50 प्लॉट संख्या 1015 और 1016 में प्लॉट काटकर बस्ती बसाने एवं जमीन की अवैध खरीद- बिक्री की प्रक्रिया शुरू की गई है जिसको कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ग्राम प्रधान ने कहा की जमींन पूर्ण रूप से कृषि भूमि है। उन्होंने कहा की चारो तरफ संथाल की जमींन है और सालो भर खेती बारी करते है। वही मौके पर उपस्थित 20 सूत्री प्रखंड उपाध्यक्ष राम हांसदा ने कहा कि बिना ग्रामसभा के स्वीकृत जमीन खरीद-बिक्री को किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। मौके पर मुख्यरूप से ग्राम प्रधान धरमु माझी, 20 सूत्री प्रखंड उपाध्यक्ष राम हांसदा, धनि राम सोरेन, कालिदास टुडु, भीम मांझी, राहुल सोरेन, सुशील मार्डी, विजय टुडु, दुर्गा हांसदा, भीम मार्डी, सोमाय मार्डी, जय राम सोरेन, देवेंद्र हांसदा, लोगू मार्डी, लेचा मार्डी समेत सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण किसान मौजूद थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।