ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड आदित्यपुरमुआवजा व नौकरी की मांग पर ग्रामीणों ने फिर घेरा सब स्टेशन

मुआवजा व नौकरी की मांग पर ग्रामीणों ने फिर घेरा सब स्टेशन

बलरामपुर मुख्य मार्ग स्थित समाजसेवी पवन राम के घर में बीते 1 फरवरी को 11 हजार विद्युत प्रवाहित तार की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हुए आदित्यपुर...

बलरामपुर मुख्य मार्ग स्थित समाजसेवी पवन राम के घर में बीते 1 फरवरी को 11 हजार विद्युत प्रवाहित तार की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हुए आदित्यपुर...
1/ 2बलरामपुर मुख्य मार्ग स्थित समाजसेवी पवन राम के घर में बीते 1 फरवरी को 11 हजार विद्युत प्रवाहित तार की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हुए आदित्यपुर...
बलरामपुर मुख्य मार्ग स्थित समाजसेवी पवन राम के घर में बीते 1 फरवरी को 11 हजार विद्युत प्रवाहित तार की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हुए आदित्यपुर...
2/ 2बलरामपुर मुख्य मार्ग स्थित समाजसेवी पवन राम के घर में बीते 1 फरवरी को 11 हजार विद्युत प्रवाहित तार की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हुए आदित्यपुर...
हिन्दुस्तान टीम,आदित्यपुरSun, 18 Feb 2024 02:15 AM
ऐप पर पढ़ें

गम्हरिया, संवाददाता। बलरामपुर मुख्य मार्ग स्थित समाजसेवी पवन राम के घर में बीते 1 फरवरी को 11 हजार विद्युत प्रवाहित तार की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हुए आदित्यपुर निवासी राजकुमार की शुक्रवार को इलाज के दौरान टीएमएच में मौत हो गई। इस घटना के बाद आक्रोशित परिजनों एवं ग्रामीणों ने छोटा गम्हरिया स्थित विद्युत सब स्टेशन में शव को लेकर प्रदर्शन करते हुए मुआवजे और आश्रित नौकरी को लेकर प्रदर्शन किया। इस दौरान सब स्टेशन पर दिन के साढ़े तीन बजे से विद्युत आपूर्ति ठप कर सभी शव को लेकर गेट पर बैठ गए। इससे करीब सात घंटे तक विद्युत आपूर्ति ठप रहने से सम्पूर्ण गम्हरिया क्षेत्र अंधकार में डूबा रहा।
मामले की सूचना मिलते ही विद्युत सहायक अभियंता प्रियंकर पांडेय, कनीय अभियंता संजय महतो, सीओ गिरेंद्र टूटी, सीआई मनोज सिंह, गम्हरिया थाना प्रभारी राजू, आदित्यपुर थाना प्रभारी नितिन कुमार सिंह, कांड्रा थाना प्रभारी समेत काफी संख्या में पुलिस बल पहुंचकर स्थिति को नियंत्रित किया। परिजनों ने बताया कि आर्थिक स्थिति अत्यंत बदतर होने के बाद भी इलाज में करीब साढ़े सात लाख रुपये खर्च हो गया। इसके बावजूद उन्हें बचाया नहीं जा सका। उन्होंने आरोप लगाया कि इलाज में बिजली बोर्ड की ओर से उन्हें सहायता नहीं की गई।

कांग्रेस, भाजपा और विहिप के कार्यकर्ताओं ने दिया समर्थन

शव के साथ सब स्टेशन पर प्रदर्शन कर रहे भाजपा नेता चंदन डेविड ने पीड़ित परिवार को न्याय देने की मांग करते हुए आक्रोशित लोगों से संयम बनाए रखने की अपील की। इस अवसर पर कांग्रेस के प्रभारी जिलाध्यक्ष अंबुज कुमार, विहिप जिलाध्यक्ष राजू चौधरी, भाजपा नेता रमेश हांसदा, रश्मि साहू, अमित सिंहदेव, अजीत सिंह, बाबू मिश्रा, मनोरंजन सिंह, शैलेश तिवारी, बबुआ सिंह, कांग्रेस के रामाशंकर पांडेय, प्रखंड अध्यक्ष अखिलेश तिवारी, राजू रजक, सांसद प्रतिनिधि मोनू झा, रिंकू ठाकुर आदि ने मांगों को लेकर आंदोलन पर बैठ गए।

वार्ता में हुआ निर्णय : सब स्टेशन परिसर में घंटों चली वार्ता में 10 लाख मुआवजा, एक स्थाई नौकरी की मांग बिजली बोर्ड से की गई। देर रात करीब दस बजे बोर्ड के अधिकारी, पुलिस प्रशासन, नेताओं एवं परिजनों के साथ संपन्न बैठक में सरकारी प्रावधान के तहत पांच लाख मुआवजा, आश्रित को एक अस्थाई नौकरी, अधिकारियों की ओर से निजी स्तर पर चंदा कर एक लाख रुपए देने एवं तत्काल दाह संस्कार के लिए 50 हजार मदद करने के लिखित आश्वासन के बाद जाम हटाया गया। इसके बाद देर रात साढ़े दस बजे विद्युत चालू किया गया।

यह है मामला

विगत 1 फरवरी को बलरामपुर मुख्य मार्ग पर स्थित समाजसेवी पवन राम के घर की दो तल्ले की ढलाई की तैयारी चल रही थी। छत पर मिस्त्री काम कर रहा था। इस दौरान पवन राम का मौसा आदित्यपुर निवासी राजकुमार राम (40) भी छत पर चढ़ कर सेंट्रिंग का काम देख रहा था। छत से सटकर 11 हजार के विद्युत प्रवाहित तार भी गुजरा है। राज कुमार अचानक इस तार की चपेट में आ गया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार वह कुछ देर तार में फंसा रहा। फिर झुलस कर 50 फीट नीचे पक्की सड़क पर गिर गया। इस घटना में वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे टीएमएच में भर्ती कराया गया था।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें