DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  आदित्यपुर  ›  विद्यार्थियों ने अभिज्ञानशाकुन्तलम् नाटक के श्लोकों को सीखा
आदित्यपुर

विद्यार्थियों ने अभिज्ञानशाकुन्तलम् नाटक के श्लोकों को सीखा

हिन्दुस्तान टीम,आदित्यपुरPublished By: Newswrap
Sun, 13 Jun 2021 03:42 AM
विद्यार्थियों ने अभिज्ञानशाकुन्तलम् नाटक के श्लोकों को सीखा

सिंहभूम कॉलेज चांडिल में संस्कृत विभाग की और से सात दिवसीय ई-व्याख्यानमाला के दूसरे दिन विद्यार्थियों ने अभिज्ञानशाकुन्तलम् नाटक के श्लोकों को रोचक तरीके से सीखा। मुख्य वक्ता कोल्हान विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. गंगाधर पंडा ने श्लोकों को गाकर तथा उनका हिन्दी अर्थ बताते हुए अलंकारों को स्पष्ट किया। नाटक के नायक राजा दुष्यंत द्वारा नायिका शकुन्तला के प्रति कहे गये श्लोकों की व्याख्या के दौरान प्रतिभाग खूब आनंदित हुए। मुख्य वक्ता ने दैनिक जीवन के रोचक उदाहरणों से अलंकारों को स्पष्ट किया। प्रथम दिन की तरह उन्होंने अलंकारों के नाम निर्देश करते हुए उनके लक्षण भी बताये। पुस्तकों के श्लोकों की व्याख्या में कहीं-कहीं केवल अलंकारों का नाममात्र निर्देश हुआ है। अलंकार कैसे घटित हुआ है, वक्ता ने उनको सरल शब्दों में व्याख्यायित किया। व्याख्यानमाला के दूसरे दिन भी अन्य राज्यों के विद्वान-विदूषी बेबिनार के माध्यम से जुड़े रहे। दूसरे दिन कुल 73 प्रतिभागी जूड़े। रांची विश्वविद्यालय की छात्रा माधवी राजपूत ने किया। संस्कृत विभागाध्यक्ष एवं ई-व्याख्यानमाला के संयोजक डॉ. सुनील मुर्मू ने मंच संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन किया।

संबंधित खबरें