Recommendation of Action by SDO - एसडीओ ने की कार्रवाई की अनुशंसा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसडीओ ने की कार्रवाई की अनुशंसा

एसडीओ ने की कार्रवाई की अनुशंसा

हिन्दुस्तान अखबार में 14 अगस्त की अंक में खौफ के साये में चावलीबासा पीएचसी में होता है मरीजों का इलाज शीर्षक से खबर छपने के बाद प्रशासन की नींद टूटी है। शुक्रवार को एसडीओ भगीरथ प्रसाद ने चौका के चावलीबासा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे तथा पूरे मामले की जानकारी ली। एसडीओ उस समय दंग रह गये जब टेबल पर मरीजों के लिए रखे दवा एक्सपायरी थे तथा चपरासी हाड़ीराम उरांव के भरोसे मरीज को छोड़ दिया गया था। अस्पताल में डाक्टर, फार्माशिष्ट एवं एएनएम गायब थे। एसडीओ ने दवा के स्टाक की जांच की तो दवा एवं सुई सभी एक्सपायरी हो चुके थे और वे मरीजों को बेधड़क दिये जा रहे थे। इसपर एसडीओ ने नाराजगी जाहिर करते हुए डाक्टर शेखर चौधरी, फार्माशिष्ट शशिभूषण पाल, एएनएम अनीता कुमारी एवं नीलम कुमारी के खिलाफ विभागीय कारवाई करने के अनुशंसा लिए सिविल सर्जन को लिखा है। एसडीओ ने मरीजों को शिफ्ट करने के लिए सिविल सर्जन को कहा: निरीक्षण के दौरान एसडीओ ने कहा कि अस्पताल की स्थिति काफी जर्जर हो चुकी है। इलाजरत मरीजों की जिंदगी पर आफत बनी हुई है। लिहाजा उन्होंने अस्पताल के मरीजों को जल्द दूसरे सुरक्षित जगह पर शिफ्ट करने के लिए सिविल सर्जन से बात की। सिविल सर्जन ने बताया वे जल्द ही सुरक्षित जगह पर मरीज के लिए व्यवस्था करेंगे। मरीजों के जिंदगी के साथ खिलवाड़ हो रही है-पंसस : चावलीबासा पंचायत के पंसस गुरूचरण साव ने एसडीओ बताया कि तमाड़ सीमा से लेकर पारडीह तक एनएच 33 के कुल 45 किलोमीटर की दुरी में यह एक मात्र स्वास्थ्य केन्द्र है। इसके बावजुद स्वास्थ्य केन्द्र में एक भी स्वास्थ्यकर्मी मौजुद नहीं रहता है। वहीं एक्सपायरी दवा एवं सुइंया देकर मरीजों के जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है। व्यवस्था सही रहने से हजारों लोगों को इसका लाभ मिल पाता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Recommendation of Action by SDO