DA Image
21 सितम्बर, 2020|6:37|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन में चौपट उद्योग-धंधों को पुनर्स्थापित करने में वक्त लगेगा : निदेशक

default image

सरायकेला उपायुक्त इकबाल अंसारी ने कहा कि लॉकडाउन में उद्योग-धंधे प्रभावित हुए हैं और बेरोजगारी भी बढ़ी है। लेकिन, यह समस्या केवल आदित्यपुर तक सीमित नहीं है, बल्कि पूरे देश व विश्व में है, जिसे पुनर्स्थापित करने में वक्त लगेगा।

वह सोमवार को आदित्यपुर स्थित जियाडा भवन में जियाडा के क्षेत्रीय निदेशक का पदभार लेने पहुंचे थे। उपायुक्त ने उद्यमियों द्वारा बिजली बिल का फिक्स चार्ज, आयडा की रेंट लेवी समेत अन्य राहत की मांग पर कहा कि इससे सरकार को अवगत करायेंगे। सरकार द्वारा जो निर्णय लिया जायेगा, उसे जियाडा अमल में लायेगी।

सोमवार को जियाडा के दूसरे उपनिदेशक के रूप में बेरमो एसडीओ प्रेम रंजन ने पदभार लिया। उन्होंने निर्वतमान उपनिदेशक रंजना मिश्रा से पदभार लिया।

एक साल से लंबित है राज्यस्तरीय बैठक : जियाडा की राज्य स्तरीय बैठक बीते एक साल से लंबित होने के कारण कई मामले लंबित हैं। गौरतलब है कि गत वर्ष 12 सितंबर के बाद से एक भी बैठक नहीं हुई है। इस वजह से जियाडा के नये नियम-कानून, नई दरों का निर्धारण, उद्यमियों की रेंट लेवी में ब्याज लगाने के मामले समेंत सैकड़ों महत्वपूर्ण निर्णय लंबित हैं।

एनएसआईसी भवन तोड़कर बनेगा आईटी टावर

जियाडा परिसर स्थित स्थित एनएसआईसी के जर्जर भवन को ध्वस्त कर वहां आईटी टावर की स्थापना की जायेगी। जियाडा के उप निदेशक प्रेम रंजन ने बताया कि इसपर जानकारी ले रहे हैं, जल्द इसपर निर्णय लिया जायेगा। इसके अलावा वन विभाग की 276 एकड़ जमीन के डिनोटिफिकेशन के लंबित मामलों को जल्द निष्पादित करने का प्रयास होगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Lockdown will take time to restore stalled industry Director