DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › आदित्यपुर › सिलाई सीखने गयी कांड्रा की किशोरी हुई लापता, प्रयागराज से बरामद
आदित्यपुर

सिलाई सीखने गयी कांड्रा की किशोरी हुई लापता, प्रयागराज से बरामद

हिन्दुस्तान टीम,आदित्यपुरPublished By: Newswrap
Sat, 17 Jul 2021 03:41 AM
सिलाई सीखने गयी कांड्रा की किशोरी हुई लापता, प्रयागराज से बरामद

गम्हरिया (जमशेदपुर)। संवाददाता

कांड्रा की लापता किशोरी को पुलिस ने प्रयागराज से बरामद कर लिया है। 17 वर्षीया किशोरी अपने मामा के घर रहकर पढ़ाई कर रही थी। गुरुवार को सिलाई सीखने की बात कहकर घर से निकली और देर रात तक वापस नहीं आयी। परिजनों के काफी ढूंढने के बावजूद जब उसका पता नहीं चला तो कांड्रा थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी गयी। मामला दर्ज होते ही स्थानीय पुलिस इस मामले में सक्रिय हो गई I कांड्रा के एक पत्रकार ने इसमें अहम भूमिका निभाते हुए पुलिस और प्रयागराज की रेल पुलिस की मदद से नाबालिग को ट्रेन से जाते हुए प्रयागराज रेलवे स्टेशन से बरामद कर लिया गया।

हावड़ा से पकड़ी जयपुर की ट्रेन

शुक्रवार को किशोरी ने मैसेज के माध्यम से मामा को सूचित किया कि वह किसी के कहने पर ट्रेन से जयपुर जा रही है। इसके लिए उसने हावड़ा पहुंचकर जयपुर की ट्रेन पकड़ी है। वह किसके साथ और क्यों जा रही है, यह बात उसने अपने परिजनों को खुलकर नहीं बतायी। किशोरी के मामा ने मैसेज की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी I

ट्रेन के रनिंग स्टेट्स से बरामद हुई किशोरी

किशोरी के ट्रेन से जयपुर जाने की बात पर उसके रनिंग स्टेटस की ऑनलाइन जानकारी ली गयी। इससे पता चला कि ट्रेन मिर्जापुर के आसपास है। उसका अगला स्टॉपेज प्रयागराज है। तत्काल प्रयागराज एसपी से संपर्क करने की कोशिश की गयी, लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया। इसके उपरांत गूगल के माध्यम से प्रयागराज के रेल डीएसपी का नंबर निकाला गया और उनसे संपर्क साधा गया। रेल डीएसपी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल संज्ञान लिया और एक दल का गठन कर हावड़ा से जयपुर जा रही ट्रेन से किशोरी को सकुशल बरामद किया। रेल पुलिस ने किशोरी को उसके मामा से कांड्रा बात भी करायी। किशोरी की सकुशल बरामदगी से घरवालों ने राहत की सांस ली। इसके बाद उसे लाने के लिए परिजन शुक्रवार देर शाम प्रयागराज के लिए रवाना हो गए। परिजनों को आशंका है कि लड़की किसी के झांसे में आकर अन्यत्र जा रही थी।

परिजनों को मानव तस्करी की भी आशंका

अपनी भांजी के लापता होने के बाद परिजनों को किशोरी के मानव तस्करी के जाल में फंसने की आशंका हुई। इससे उनकी बेचैनी बढ़ गई। उन्होंने किशोरी को बहकाने वाले का भी पता लगाने की पूरी कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हुए। लड़की की सकुशल घर वापसी के बाद ही मामले से पर्दा हट पाएगा। परिजनों ने स्थानीय पुलिस, रेल पुलिस प्रयागराज एवं इस महत्वपूर्ण कड़ी में सामाजिक दायित्व का निर्वहन करने वाले पत्रकार के प्रति भी आभार व्यक्त किया है।

संबंधित खबरें