DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपदा प्रबंधन की बैठक में बाढ़ से निपटने पर मंथन

आपदा प्रबंधन की बैठक में बरसात के समय बाढ़ से निपटने की तैयारी पर मंथन किया गया। चिकित्सकों को अस्पतालों में समुचित दवा एवं एम्बुलेंस की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया।

अनुमंडल कार्यालय सभागार में हुई बैठक की अध्यक्षता करते हुए एसडीओ डा. विनय मिश्रा ने कहा कि आपदा से निपटने में प्रशासन हर संभव प्रयास करेगा।

वहीं, बैठक में मौजूद लोगों ने प्रशासन से मांग की कि जब तक विस्थापितों को बकाया मुआवजा व अनुदान का भुगतान नहीं किया जाता है, तब तक चांडिल डैम का जलस्तर 181 मीटर से नीचे रखा जाये। आपदा प्रबंधन जैसी महत्वपूर्ण बैठक में सबंधित जलसंसाधन विभाग के वरीय पदाधिकारियों की गैर मौजूदगी विभाग की लापरवाही को दिखाता है।

बैठक में विधायक साधुचरण महतो, एसडीपीओ धीरेंद्र नारायण बंका, विधि सलाह केंद्र के अध्यक्ष सुरेश खेतान, कांग्रेस प्रदेश सचिव हिकिम चंद्र महतो, झामुमो जिला सचिव सुखराम हेम्ब्रम, विमुवा नेता नारायण गोप, श्यामल मार्डी, डा. बन बिहारी महतो समेत कई बीडीओ व थाना प्रभारी आदि उपस्थित थे।

लाईव जैकेट तो है, परंतु मास्क नहीं : समिति

चांडिल बांध मत्सयजीवी स्वावलंबी सहकारी समिति के अध्यक्ष नारायण गोप ने कहा कि बाढ़ से निपटने के लिए समिति के पास पर्याप्त संख्या में गोताखोर है, लाइव जैकेट भी है, पर मास्क नहीं है। कहा, पिछली बार की बैठक में गोताखोरों के लिए मास्क एवं अन्य सुविधा देने को प्रशासन ने कहा था, परंतु एक वर्ष बाद भी गोताखोरों के लिए आवश्यक सुविधाएं मिलीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Churning on handling floods in disaster management meeting