फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ जम्मू और कश्मीरश्रीनगर में आतंकी हमले का अलर्ट, कश्मीरी नेता हुए नजरबंद; पुलिस ने बताई सच्चाई

श्रीनगर में आतंकी हमले का अलर्ट, कश्मीरी नेता हुए नजरबंद; पुलिस ने बताई सच्चाई

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा कि श्रीनगर में आतंकी हमले का खतरा है। इसलिए इलाके में अतिरिक्त पुलिस फोर्स तैनात की गई। पुलिस ने कश्मीरी नेताओं को नजरबंद करने की खबरों को भ्रामक बताया है।

श्रीनगर में आतंकी हमले का अलर्ट, कश्मीरी नेता हुए नजरबंद; पुलिस ने बताई सच्चाई
Gaurav Kalaएएनआई,नई दिल्लीFri, 05 Aug 2022 07:09 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि श्रीनगर में आतंकी हमले का खतरा है। इसलिए इलाके में अतिरिक्त पुलिस फोर्स तैनात की गई। पुलिस ने यह भी साफ किया कि नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी के कुछ नेताओं को नजरबंद करने की खबरें भ्रामक हैं। उन्हें पूरी तरह से निराधार बताया।

मीडिया को जारी एक बयान में एक प्रवक्ता ने कहा कि एक फर्जी खबर चल रही है कि कुछ नेकां और पीडीपी नेताओं को गुपकार रोड में नजरबंद कर दिया गया है, यह खबर पूरी तरह से निराधार है। बयान में कहा गया है कि आतंकवादी हमले के कुछ इनपुट के मद्देनजर कुछ स्थानों पर गुपकार रोड पर अतिरिक्त कर्मी तैनात हैं।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में पुलिस को आतंकी हमले का इनपुट मिला है। जिसके बाद पुलिस और सेना ने जम्मू कश्मीर के कई इलाकों में सुरक्षा कड़ी कर दी है। खासकर गुपकार रोड पर अतिरिक्त कर्मी तैनात किए गए हैं। इससे पहले गुरुवार को पुलवामा के गदूरा इलाके में आतंकियों के ग्रेनेड अटैक में एक प्रवासी मजदूर की जान चली गई वहीं दो मजदूर घायल हो गए हैं। 

बता दें कि 5 अगस्त को आर्टिकल 370 हटाए जाने की तीसरी बरसी है। इससे पहले आतंकियों ने हमला किया है। पुलिस का कहना है कि इलाके में  तलाशी अभियान चलाया गया है। मारे गए मजदूर की पहचान मोहम्मद मुमताज के रूप में हुई।

epaper