फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News जम्मू और कश्मीरगाड़ी चालू करने से पहले जांच लें, आतंकवादी छिपे हो सकते हैं; जम्मू-कश्मीर पुलिस की एडवाइजरी

गाड़ी चालू करने से पहले जांच लें, आतंकवादी छिपे हो सकते हैं; जम्मू-कश्मीर पुलिस की एडवाइजरी

लाउडस्पीकरों से लैस जम्मू कश्मीर पुलिस वाहनों ने अखनूर और जम्मू इलाकों में घोषणाएं करते हुए लोगों से सतर्क रहने और किसी भी संदिग्ध गतिविधि या वस्तु की सूचना देने का आग्रह किया है।

गाड़ी चालू करने से पहले जांच लें, आतंकवादी छिपे हो सकते हैं; जम्मू-कश्मीर पुलिस की एडवाइजरी
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,जम्मूWed, 12 Jun 2024 09:36 PM
ऐप पर पढ़ें

तीन दिनों में तीन आतंकी हमलों के बाद, जम्मू-कश्मीर पुलिस ने आज जम्मू क्षेत्र में ‘अलर्ट एडवाइजरी’ जारी की है। इसमें लोगों से संदिग्ध व्यक्तियों, वाहनों और वस्तुओं की आवाजाही के बारे में सतर्क रहने का आग्रह किया गया है। इस बीच, कठुआ हमले के बाद, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि इलाके में और भी आतंकवादी छिपे हो सकते हैं। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू और राजौरी के लोगों से आग्रह किया गया है कि वे इंजन चालू करने से पहले अपने वाहनों की अच्छी तरह जांच कर लें।

लाउडस्पीकरों से लैस पुलिस वाहनों ने अखनूर और जम्मू इलाकों में घोषणाएं करते हुए लोगों से सतर्क रहने और किसी भी संदिग्ध गतिविधि या वस्तु की सूचना देने का आग्रह किया है। पुलिस और सुरक्षा बलों ने अखनूर सेक्टर में चौकियों और पुलिस सुविधाओं पर सुरक्षा की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों से सतर्क रहने को कहा है। जम्मू और सांबा में पुलिस ने लोगों से आतंकवाद से जुड़ी किसी भी हरकत की सूचना देने को कहा है।

सुरक्षा के यह कड़े कदम आतंकी खतरे के संकेत देने वाली खुफिया सूचनाओं के बाद उठाए गए हैं। पुलिस ने जम्मू और सांबा जिलों के अधिकारियों के लिए संपर्क नंबर जारी किए हैं और निवासियों से कहा कि वे किसी भी संभावित आतंकी गति‍विधि की जानकारी दें। यह परामर्श पिछले तीन दिनों में रियासी, कठुआ और डोडा जिलों में हुए तीन आतंकवादी हमलों के मद्देनजर जारी किया गया है। इन घटनाओं में सीआरपीएफ के एक जवान समेत 10 लोगों की मौत हो गई जबकि सात सुरक्षाकर्मियों समेत 48 लोग घायल हो गए। जम्मू-कश्मीर के पुंछ, राजौरी और रियासी जिलों में तलाशी और घेराबंदी अभियान जारी है।

जम्मू क्षेत्र में तीन अलग-अलग आतंकी हमलों में तीन दिनों में सीआरपीएफ के एक जवान समेत 10 लोगों की मौत हो गई है। पहला हमला तब हुआ जब आतंकवादियों ने रियासी में हिंदू तीर्थयात्रियों से भरी एक बस पर गोलीबारी की। इस हमले में 9 लोगों की मौत हो गई थी। बस चला रहे ड्राइवर को गोली लगने के बाद वाहन सड़क से उतरकर खाई में गिर गया था। दूसरा हमला डोडा जिले में हुआ, जिसमें कई सुरक्षाकर्मी घायल हो गए। तीसरे आतंकी हमले में, कठुआ जिले में, दो आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में एक सीआरपीएफ जवान शहीद हो गया, जिन्हें बाद में सुरक्षा बलों ने मार गिराया।