फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News जम्मू और कश्मीरआतंकवादी के सहयोगियों पर बरसा महबूबा मुफ्ती का प्यार, सुरक्षा बलों के एनकाउंटर पर उठाए सवाल

आतंकवादी के सहयोगियों पर बरसा महबूबा मुफ्ती का प्यार, सुरक्षा बलों के एनकाउंटर पर उठाए सवाल

जम्मू और कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने मंगलवार को श्रीनगर में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ के दौरान एक घर के मालिक और एक डॉक्टर के मारे जाने पर...

आतंकवादी के सहयोगियों पर बरसा महबूबा मुफ्ती का प्यार, सुरक्षा बलों के एनकाउंटर पर उठाए सवाल
पीटीआई,श्रीनगर।Tue, 16 Nov 2021 05:56 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

जम्मू और कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने मंगलवार को श्रीनगर में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ के दौरान एक घर के मालिक और एक डॉक्टर के मारे जाने पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा, “यह देखकर दुख होता है कि आपने उग्रवादियों से लड़ने के दौरान नागरिकों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है।”

श्रीनगर के हैदरपोरा इलाके में सोमवार देर शाम हुई मुठभेड़ में एक पाकिस्तानी आतंकवादी और उसके स्थानीय सहयोगी समेत चार लोग मारे गए। मृतकों में मकान मालिक और एक डॉक्टर भी शामिल हैं, जिन्हें पुलिस ने आतंकी का सहयोगी बताया है। हालांकि उनके परिवार वालों ने पुलिस के आरोप से इनकार किया है।

पार्टी कार्यालय में युवाओं के एक समूह को संबोधित करते हुए महबूबा ने कहा, "मुझे हैदरपोरा में एक मुठभेड़ की खबर मिली। आतंकवादी मारे गए, समझा जाता है, लेकिन परिवार का आरोप है कि घर के मालिक को मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल किया गया था। वह एक एक युवा डॉक्टर के साथ मारा गया।”

महबूबा ने कहा, "मुझे नहीं पता कि उन्हें (मकान मालिक और डॉक्टर) किस श्रेणी में रखा जाएगा, लेकिन यह देखकर दुख होता है कि आपने आतंकवादियों से लड़ते हुए नागरिकों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है। यह गलत है।"

जम्मू के पांच दिवसीय दौरे पर आई महबूबा ने भाजपा पर उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए देश का ध्रुवीकरण करने का आरोप लगाया।

महबूबा ने कहा, “पहले, सरकारें उनकी उपलब्धियों पर वोट मांगती थीं जैसे कि कितने पुल बनाए गए हैं, कितने रोजगार के अवसर पैदा हुए हैं और कितने युवाओं को रोजगार दिया गया है। उनके (बीजेपी) के पास वोट हासिल करने के लिए हिंदुओं और मुसलमानों को एक-दूसरे से लड़ाने के अलावा लोगों को दिखाने के लिए कुछ भी नहीं है।''

जम्मू के युवाओं से सतर्क रहने को कहते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां भी समाज में जहर घोलने की कोशिश की जा रही है। महबूबा मुफ्ती मे कहा, “युवा बेरोजगारी की सबसे बड़ी समस्या का सामना कर रहे हैं। उनके (सरकार) के पास इसका कोई जवाब नहीं है। पिछले करीब एक साल से सड़कों पर उतरे किसानों की समस्या का उनके पास कोई जवाब नहीं है।''

उन्होंने हाल के दिनों में त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र में सांप्रदायिक तनाव का हवाला देते हुए कहा, "उनके पास केवल एक मशीन और केवल एक कारक है। वह है यूपी चुनावों में राजनीतिक लाभ के लिए समाज का ध्रुवीकरण करना।" .

पीडीपी नेता ने कहा कि वह जम्मू में एक कृष्ण देव सेठी के घर पली-बढ़ी हैं, लेकिन उन्हें कभी भी हिंदू और मुस्लिम में कोई अंतर महसूस नहीं हुआ। यह जम्मू का भाईचारा है जो देश की उन जगहों में से एक है जहां धर्मनिरपेक्षता जिंदा है और हिंदू, मुस्लिम और सिख भाई की तरह रह रहे हैं, लेकिन वे यहां के समाज को भी जहर देना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, "आपको उनके जाल में नहीं पड़ना चाहिए। आपको उनसे हिसाब लेना होगा और पूछना होगा कि यहां स्थापित बिजली परियोजनाओं और कारखानों में कितने स्थानीय लोगों को रोजगार मिला है। अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद, जम्मू-कश्मीर में कितने स्थानीय और गैर-स्थानीय लोगों को नौकरी मिली।”