ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशकौन हैं अर्जेंटीना के नए राष्ट्रपति जेवियर मिलाई? चीन को दे चुके हैं खुली धमकी

कौन हैं अर्जेंटीना के नए राष्ट्रपति जेवियर मिलाई? चीन को दे चुके हैं खुली धमकी

अर्जेंटीना में राष्ट्रपति पद का चुनाव जीतने वाला जेवियर मिलाई चीन को पहले ही खुली धमकी दे चुके हैं। वह एक धुर दक्षिणपंथी के रूप में जाने जाते हैं।

कौन हैं अर्जेंटीना के नए राष्ट्रपति जेवियर मिलाई? चीन को दे चुके हैं खुली धमकी
Ankit Ojhaएजेंसियां,ब्यूनस आयर्सMon, 20 Nov 2023 08:16 AM
ऐप पर पढ़ें

अर्जेंटीना में हुए आम चुनावों में धुर दक्षिणपंथी नेता के रूप में मशहूर जेवियर मिलाई ने जीत दर्ज कर ली है। उन्हें अपने कट्टरवादी विचारों के लिए भी जाना जाता है। जेवियर ने अपने प्रतिद्वंद्वी सरजियो मासा को बड़े अंतर से हराया और 56 फीसदी वोट हासिल किए। जेवियर ने मस्सा पर 20 लाख वोटों से जीत हासिल की। बता दें कि अर्जेंटीना आर्थिक समस्याओं से जूझ रहा है। जेवियर ने अर्जेंटीना के केंद्रीय बैंक को खत्म करके नई व्यवस्था लागू करने का वादा किया था। वहीं वह ब्राजील और चीन की खुली आलोचना करते रहे हैं। उन्होंने कहा था कि वह किसी भी कम्युनिस्ट देश के साथ कोई सौद नहीं करेंगे। हालांकि जेवियर की जीत के बाद ब्राजील के राष्ट्रपति लूला दा सिल्वा ने उन्हें बधाई दी। 

मलाई की जीत से अर्जेंटीना में बड़े बदलाव के आसार हैं। आर्थिक मोर्च पर भी उनके विचार एकदम अलग हैं। मिलाई ने अपनी अर्थव्यवस्था को डॉलर केंद्रित बनाने का प्रस्ताव पहले ही रखा था। उनका उद्देश्य वित्तीय प्रणाली की स्थिर करना और महंगाई को कम करना है। बता दें कि अर्जेंटीना की आर्थिक स्थिति इतनी खराब हो गई थी कि लोग सड़कों पर उतर आए। रिपोर्ट्स में कहा गया कि अर्जेंटीना के लोगों के सामने इस बार दो खराब विकल्प थे जिसमें से उन्होंने बेहतर का चुनाव किया है। 

कौन हैं जेवियर मिलाई
जेवियर मिलाई का जन्म 22 अक्टूबर 1970 में जेवियर का जन्म हुआ था। उन्हें धुर दक्षिणपंथी के रूप में जाना जाता है। इसके अलावा वह पूंजीवादी सिद्धांतों में यकीन रखते हैं। मिलाई अर्जेंटीना की अर्थव्यवस्था को शॉक थेरपी देने की बात करते हैं। वह केंद्रीय बैंक को खत्म करके अर्थव्यवस्था का डॉलराइज करना चाहते हैं। इसके अलावा उनकी नीतियों में गर्भपात का क़ा विरोध शामिल है। उनका कहना है कि रेप की स्थिति में भी  अबॉर्शन की इजाजत नहीं दी जा सकती है। 

इसके अलावा मिलाई सेक्स एजुकेशन का भी विरोद करते रहे हैं और उनका कहना है कि इसका मतलब सिर्फ ब्रेनवॉश होता है। इसके अलावा नागरिकों को गन रखने के अधिकार के भी समर्थक हैं। उन्होंने मानव अंग की वैध बिक्री पर भी विचार करने का प्रस्ताव रखा था। इसके अलावा वह बी20- इकोनॉमिस्ट पॉलिसी ग्रुप और इंटरनेशनल चैंबर ऑफ कॉमर्स व वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के सदस्य हैं। वह एक प्राइवेट कंपनी में में आर्थिक सलाहकार के रूप में काम कर चुके हैं। 


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें