DA Image
हिंदी न्यूज़ › विदेश › सोनी-जी के विलय का क्या होगा असर
विदेश

सोनी-जी के विलय का क्या होगा असर

डॉयचे वेले,दिल्लीPublished By:
Wed, 22 Sep 2021 07:00 PM
सोनी-जी के विलय का क्या होगा असर

जी समूह के मनोरंजन व्यापार का सोनी इंडिया में विलय होने से भारत के सबसे बड़े मनोरंजन नेटवर्क का जन्म हो सकता है. दोनों कंपनियां कुल मिला कर 75 टीवी चैनल चलाती हैं जिनका 173 देशों में प्रसारण होता है.दर्शकों के बीच जगह बनाने के लिए टीवी चैनलों की अंतरराष्ट्रीय स्ट्रीमिंग सेवाओं के साथ प्रतिस्पर्धा बढ़ती जा रही है. ऐसे में जी समूह के मनोरंजन व्यापार का सोनी की भारतीय इकाई में विलय हो जाना एक बड़ी घटना है. समीक्षकों का कहना है कि इस विलय से बननी वाली कंपनी दर्शकों और चैनलों की संख्या के लिहाज से इस बाजार के सबसे बड़ी खिलाड़ी स्टार और डिजनी इंडिया की बराबरी कर सकती है. जी एंटरटेनमेंट ने अपनी निवेशकों को दिए एक बयान में कहा, "हमने सर्वसम्मति से सैद्धांतिक रूप से सोनी से मिले प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है और मैनेजमेंट को आगे की प्रक्रिया करने की सलाह दे दी है" इस नई कंपनी में सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया के पास 52.

93 प्रतिशत की मेजोरिटी हिस्सेदारी होगी. इसके लिए सोनी ने 1.58 अरब डॉलर देने का प्रस्ताव किया है. घोषणा के बाद जी के शेयरों में 30 प्रतिशत से भी ज्यादा का उछाल आया. नई कंपनी भी भारतीय शेयर बाजार में सूचीबद्ध होगी.

भारत मनोरंजन सेवाओं के लिए एक बहुत बड़ा बाजार है जिससे नेटफ्लिक्स, अमेजॉन का प्राइम वीडियो, डिजनी का हॉटस्टार जैसी अग्रणी अमेरिकी स्ट्रीमिंग कंपनियां आकर्षित हुई हैं. बीते सालों में भारत में इंटरनेट पर मनोरंजन देखने वाले दर्शकों की संख्या बढ़ी है और ये कंपनियां इसका लाभ उठाना चाहती हैं. एकाउंटेंसी की वैश्विक कंपनी ईवाई के मुताबिक भारत का मनोरंजन बाजार 24 अरब डॉलर मूल्य का है. यह अभी से दुनिया के सबसे बड़े बाजारों में से है और आने वाले सालों में स्मार्टफोन का इस्तेमाल और बढ़ने का पूर्वानुमान है. एलारा कैपिटल के मीडिया समीक्षक कारन तौरानी ने बताया, "यह सहक्रियता के दृष्टिकोण से एक बड़ा अवसर है क्योंकि सोनी खेलों और मुख्यधारा जीईसी (जनरल एंटरटेनमेंट चैनल्स) के प्रसारण में अच्छा कर रहा है जबकि जी की प्रांतीय क्षेत्र में मजबूत पकड़ है. यहां सोनी लगभग गायब ही है" तौरानी ने यह भी बताया, "दोनों के पास फिल्मों का एक बहुत मजबूत कैटेलॉग है जिसका इस्तेमाल ओटीटी और टीवी के लिए किया जा सकता है" खेलों में सोनी भारत में क्रिकेट, यूएफसी, डब्ल्यूडब्ल्यूई कुश्ती और यूईएफए फुटबॉल दिखाता है.

उसने हाल ही में टोक्यो ओलम्पिक खेलों का भी प्रसारण किया. इस विलय से शुल्क आधारित स्ट्रीमिंग सेवाओं सोनीलिव और जी5 का भी विलय हो जाएगा. जी5 भारत में ओरिजिनल कॉन्टेंट देने वाली सबसे बड़ी सेवा है. कंपनी की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक उसने 2020-21 में 75 से भी ज्यादा ओरिजिनल रिलीज किए..

संबंधित खबरें