ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशकहां से आई 'ऑल आइज ऑन राफा' वाली तस्वीर, करोड़ों लोगों ने किया शेयर; बॉलीवुड सितारे हुए ट्रोल

कहां से आई 'ऑल आइज ऑन राफा' वाली तस्वीर, करोड़ों लोगों ने किया शेयर; बॉलीवुड सितारे हुए ट्रोल

इस अभियान को दुनियाभर में समर्थन मिला, जिसमें वरुण धवन, माधुरी दीक्षित, सामंथा रूथ प्रभु, त्रिप्ति डिमरी आदि भारतीय हस्तियों ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरीज पर ऑल आइज ऑन राफा वाली तस्वीर शेयर की है।

कहां से आई 'ऑल आइज ऑन राफा' वाली तस्वीर, करोड़ों लोगों ने किया शेयर; बॉलीवुड सितारे हुए ट्रोल
what the image means as millions share all eyes on rafah on instagram
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 29 May 2024 02:40 PM
ऐप पर पढ़ें

All Eyes On Rafah On Instagram: गाजा के राफा में विस्थापित लोगों से भरे तंबुओं में कम से कम 45 फिलिस्तीनियों की मौत के लिए इजरायल के हालिया हमलों की कई देशों और मानवाधिकार समूहों ने बड़े स्तर पर निंदा की है। मारे गए लोगों में कई बच्चे भी शामिल हैं। यह वही इलाका है जहां कुछ दिन पहले विस्थापित फलस्तीनियों के शिविर में आग लग गई थी। अल जजीरा ने प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से बताया कि राफा शहर के उत्तर-पश्चिम में स्थित ताल अस-सुल्तान क्षेत्र को "सुरक्षित क्षेत्र" घोषित किया गया है, लेकिन यहां पर कम से कम आठ इजरायली मिसाइलों ने हमला किया। वहीं इजरायली सेना ने कहा है कि रविवार को विस्थापितों के शिविर में लगी आग संभवतः फलस्तीनी आतंकवादियों के हथियारों से हुए दूसरे विस्फोटों के कारण लगी होगी। राफा पर बरस रहे इजरायली कहर के बीच एक तस्वीर दुनियाभर में शेयर की जा रही है।

ऑल आइज ऑन राफा- क्या दर्शाती है यह तस्वीर

जैसे ही सोशल मीडिया पर जले हुए शवों और गंभीर रूप से घायल लोगों की तस्वीरें सामने आईं, वैसे ही "ऑल आइज ऑन राफा" लिखी एक तस्वीर ट्रेंड करने लगी। All Eyes on Rafah (राफा पर सभी की निगाहें) लिखी तस्वीर भारत में भी कई सेलिब्रिटीज ने शेयर की है। कार्यकर्ताओं और मानवीय समूहों द्वारा चलाए जा रहे इस अभियान का उद्देश्य गाजा पट्टी के दक्षिणी शहर (राफा) की ओर ध्यान आकर्षित करना है, जहां लोगों को बिना किसी मानवीय सहायता के तंग शरणार्थी शिविरों में रहने के लिए मजबूर किया गया है।

तस्वीर में अनगिनत तंबूओं को दिखाया गया है, जिन पर लिखा है "सभी की निगाहें राफा पर हैं।" इस तस्वीर के जरिए लोगों से अपील की जा रही है कि वे गाजा के सुदूर दक्षिणी शहर की स्थिति को नजरअंदाज न करें, जहां इजरायली बमबारी से बचने के लिए लगभग 15 लाख लोग शरण लिए हुए हैं।

क्या यह तस्वीर असली है?

ऐसा कहा जा रहा है कि यह तस्वीर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) द्वारा बनाई गई पहली वायरल एक्टिविज्म तस्वीरों में से एक हो सकती है। गलत सूचनाओं को स्टडी करने वाले मार्क ओवेन जोन्स के अनुसार, यह तस्वीर "ऐसी" लगती है जैसे इसे AI द्वारा बनाया गया हो। NBC की रिपोर्ट के मुताबिक, यह तस्वीर बहुत वास्तविक नहीं लग रही है। इसे AI द्वारा बनाया गया है।

कहां से आई यह लाइन- ऑन आइज ऑन राफा

ऐसा कहा जाता है कि यह नारा विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के कब्जे वाले फिलिस्तीनी क्षेत्रों के कार्यालय के निदेशक रिक पीपरकोर्न के एक बयान से आया है। उन्होंने यह टिप्पणी फरवरी में की थी, जब बेंजामिन नेतन्याहू ने राफा के लिए निकासी योजना का आदेश दिया था। 

तस्वीर कैसे वायरल हुई?

सेव द चिल्ड्रन, ऑक्सफैम, अमेरिकन्स फॉर जस्टिस इन फिलिस्तीन एक्शन, ज्यूइश वॉयस फॉर पीस और फिलिस्तीन सॉलिडेरिटी कैंपेन जैसे सहायता समूहों ने भी इस नारे को अपनाया है। सोशल मीडिया पर, हैशटैग #AllEyesOnRafah ने कई लाख ज्यादा पोस्ट और लाखों व्यूज बटोरे हैं। यह मंगलवार को इंस्टाग्राम पर भी ट्रेंड कर रहा था। बॉलीवुड सेलिब्रिटी अपनी इंस्टा स्टोरी में भी इस तस्वीर का इस्तेमाल कर रहे हैं जिसे अब तक कई करोड़ लोगों ने शेयर किया है।

इस अभियान को दुनियाभर में समर्थन मिला, जिसमें वरुण धवन, माधुरी दीक्षित, एली गोनी, सामंथा रूथ प्रभु, त्रिप्ति डिमरी आदि भारतीय हस्तियों ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरीज पर "ऑल आइज ऑन राफा" वाली तस्वीर शेयर की है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर, ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट खिलाड़ी ट्रैविस हेड, ब्रिटिश गायिका ले-ऐनी पिनॉक, मॉडल बेला हदीद और अभिनेत्रियां साओर्से-मोनिका जैक्सन और सुजैन सारंडन ने राफा के साथ एकजुटता दिखाई है।

राफा में कत्लेआम

गाजा के स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक आग लगने की घटना में 45 लोगों की मौत हो गई थी। स्थानीय लोगों ने बताया कि दक्षिणी गाजा नगर में लड़ाई तेज हो गई है। इजरायल की ओर से मई में हमले की शुरुआत से रफह से 10 लाख लोग भाग गए जिनमें से ज्यादातर लोग इजराइल और हमास की जंग की वजह से पहले ही विस्थापित हो चुके हैं और वे युद्ध से तबाह इलाकों में शिविरों में शरण ले रहे हैं।

अमेरिका और इजराइल के अन्य सहयोगियों ने रफह में पूर्ण हमले के खिलाफ चेतावनी दी है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन ने कहा है कि ऐसा करना सीमा लांघना होगा और ऐसे हमले के लिए हथियार देने से इनकार कर दिया था। अंतरराष्ट्रीय अदालत ने इजराइल से शुक्रवार को रफह पर हमला रोकने को कहा था। हालांकि उसके पास अपने आदेश को लागू कराने की कोई शक्ति नहीं है।