ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशWhat is Stealthing: महिला की अनुमति बगैर कंडोम हटाना है अपराध, रेप केस में जेल गया युवक, क्या है स्टेल्थिंग

What is Stealthing: महिला की अनुमति बगैर कंडोम हटाना है अपराध, रेप केस में जेल गया युवक, क्या है स्टेल्थिंग

What is Stealthing: 39 साल के गाई मुकेंदी को महिला की जानकारी के बगैर कंडोम उतारने के आरोप में 5 साल की जेल की सजा सुनाई गई है। पीड़िता ने इस घटना की जानकारी 9 मई को पुलिस को दी थी।

What is Stealthing: महिला की अनुमति बगैर कंडोम हटाना है अपराध, रेप केस में जेल गया युवक, क्या है स्टेल्थिंग
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,लंदनFri, 14 Jun 2024 08:12 AM
ऐप पर पढ़ें

What is Stealthing: ब्रिटेन के ब्रिक्सटन में एक युवक को महिला के साथ बलात्कार के मामले में गिरफ्तार किया गया है। खास बात है कि इस केस में महिला की सहमति से ही दोनों के बीच शारीरिक संबंध बने थे। अदालत में आरोपी को दोषी पाया गया और उसे चार साल तीन महीने की सजा सुनाई गई है। दरअसल, इसकी वजह स्टेल्थिंग (Stealthing) बताई जा रही है।

क्या है स्टेल्थिंग?
स्टेल्थिंग को बलात्कार भी माना जाता है। इसका मतलब है कि जब दो लोग प्रोटेक्शन के इस्तेमाल की शर्त पर सेक्स के लिए तैयार होते हैं, लेकिन अगर व्यक्ति कंडोम पहनने के बारे में झूठ कहता है या शारीरिक संबंध बनाने के दौरान बगैर दूसरे व्यक्ति की अनुमति से इसे हटा लेते है, तो इसे स्टेल्थिंग कहा जाता है।

क्या था मामला
मिरर की एक रिपोर्ट के अनुसार, 39 साल के गाई मुकेंदी को महिला की जानकारी के बगैर कंडोम उतारने के आरोप में 5 साल की जेल की सजा सुनाई गई है। रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिक्सटन में एक महिला और मुकेंदी के बीच प्रोटेक्शन की इस्तेमाल के शर्त पर सहमति से शारीरिक संबंध बने थे। हालांकि, मुकेंदी ने बगैर सहमति के कंडोम बीच में हटा लिया था।

पीड़िता ने इस घटना की जानकारी 9 मई को पुलिस को दी थी। इसके बाद जब जांच शुरू हुई तो पता चला कि महिला और मुकेंदी के बीच मैसेज के जरिए हुई बातचीत को आरोपी ने डिलीट कर दिए थे। इनमें से कुछ संदेशों में वह स्टेल्थिंग के लिए माफी भी मांग रहा था। खास बात है कि ये सबूत भी मुकेंदी को दोषी ठहराए जाने में मददगार साबित हुए हैं।

अंग्रेजी अखबार से बातचीत में डिटेक्टिव कॉन्स्टेबल जैक अर्ल बताते हैं, 'इस जांच के दौरान मुकेंदी ने कुछ भी गलत करने की बात से इनकार किया है, लेकिन हमारे अधिकारियों ने उसके खिलाफ मजबूत केस बनाया, जिसके चलते ज्यूरी के दिमाग में कोई संदेह नहीं रहा।'