ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशरची जा रही थी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या की साजिश? अमेरिका के दावे पर आया भारत का जवाब

रची जा रही थी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या की साजिश? अमेरिका के दावे पर आया भारत का जवाब

आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू को लेकर अमेरिका ने दावा किया कि उसकी हत्या के लिए साजिश रची जा रही थी, जिसे अब नाकाम कर दिया गया है। भारत ने कहा कि वह इस मामले में अमेरिका के इनपुट को गंभीरता से ले रहा है।

रची जा रही थी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या की साजिश? अमेरिका के दावे पर आया भारत का जवाब
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 23 Nov 2023 01:05 AM
ऐप पर पढ़ें

खालिस्तानी नेता गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या की साजिश को लेकर अमेरिका के दावे पर भारत ने जवाब तलब किया है। भारत ने कहा कि वह इस मामले में अमेरिका के इनपुट को गंभीरता से ले रहा है। भारत ने बुधवार को कहा कि वह अमेरिका से सुरक्षा मामलों पर इनपुट को गंभीरता से लेता है क्योंकि वे हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं पर भी असर डालते हैं। विदेश मंत्रालय की यह टिप्पणी उस दिन आई है जब ब्रिटिश दैनिक फाइनेंशियल टाइम्स ने कहा कि अमेरिका ने अमेरिकी धरती पर सिख चरमपंथी गुरपतवंत सिंह पन्नू को मारने के प्रयास किया गया था, जिसे अमेरिका ने विफल कर दिया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ब्रिटेन के सवालों के जवाब में कहा, "भारत-अमेरिका सुरक्षा सहयोग पर हालिया चर्चा के दौरान, अमेरिकी पक्ष ने संगठित अपराधियों, बंदूक चलाने वालों, आतंकवादियों और अन्य लोगों के बीच सांठगांठ से संबंधित कुछ इनपुट साझा किए।" उन्होंने कहा कि इनपुट दोनों देशों के लिए चिंता का कारण थे, जिसके लिए आवश्यक कार्रवाई करने का निर्णय लिया गया। बागची ने कहा, "अपनी ओर से भारत ऐसे इनपुट को गंभीरता से लेता है क्योंकि यह हमारे राष्ट्रीय सुरक्षा हितों पर भी असर डालता है।" बागची ने कहा कि अमेरिकी इनपुट के संदर्भ में मुद्दों की जांच पहले से ही संबंधित विभागों द्वारा की जा रही है।

फाइनेंशियल टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, यूएस अथॉरिटीज ने एक सिख अलगाववादी को अमेरिकी धरती पर ढेर करने की साजिश नाकाम कर दी। पन्नू अमेरिकी और कनाडाई नागरिक है जो सिख फॉर जस्टिस का जनरल काउंसिल है। यह अमेरिका स्थित ग्रुप है जो अलग खालिस्तान स्टेट की मांग करता है। मालूम हो कि इसी साल ब्रिटिश कोलंबिया में 18 जून को खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या कर गई थी। प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने इसमें भारतीय एजेंटों की संभावित संलिप्तता का आरोप लगाया था। भारत ने 2020 में निज्जर को आतंकवादी घोषित किया था।

अमेरिकी संघीय अभियोजकों ने पन्नू मामले में न्यूयॉर्क जिला अदालत में साजिश को लेकर एक अपराधी के खिलाफ सीलबंद अभियोग दायर किया है। फिलहाल अमेरिका का जस्टिस डिपोर्टमेंट इस पर विचार कर रहा है कि क्या अभियोग को खोला जाए और आरोपों को सार्वजनिक कर दें या नहीं। साथ ही कनाडा की ओर से निज्जर की हत्या की जांच पूरी होने तक इंतजार करने की बात भी सामने आई है। मामले के जानकार लोगों ने बताया, 'ऐसा माना जा रहा है कि अभियोग में आरोपित व्यक्ति अमेरिका छोड़कर जा चुका है।'

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें