DA Image
1 सितम्बर, 2020|8:51|IST

अगली स्टोरी

प्रणब मुखर्जी के दूरदर्शी नेतृत्व से भारत को ग्लोबल पावर बनने में मिली मदद: अमेरिका

US Foreign Minister Pompeo (AP Pic)

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने मंगलवार को कहा कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के "दूरदर्शी नेतृत्व" से भारत को वैश्विक शक्ति के रूप में उभरने में मदद मिली और मजबूत अमेरिका-भारत साझेदारी का मार्ग प्रशस्त हुआ। इसके साथ उन्होंने मुखर्जी के निधन पर गहरा शोक जताया।

उन्होंने कहा कि पूर्व भारतीय राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन से अमेरिका को गहरा दुख हुआ है। आधी सदी से अधिक लंबे बेहतरीन सफर में मुखर्जी ने एक सांसद, कैबिनेट मंत्री और दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के राष्ट्रपति के रूप में भारत के लोगों की ओर से अथक प्रयास किया।

यह भी पढ़ें: प्रणब दा के निधन पर चीन, नेपाल और बांग्लादेश ने भी जताया दुख, जानिए किसने कैसे किया याद

पोम्पिओ ने एक बयान में कहा, "उनके दूरदर्शी नेतृत्व ने वैश्विक शक्ति के रूप में भारत के उदय में मदद की और मजबूत अमेरिका-भारत साझेदारी का मार्ग प्रशस्त किया।" उन्होंने कहा, ''राष्ट्रपति मुखर्जी की कई उपलब्धियों के कारण भारत अधिक समृद्ध और सुरक्षित बना। विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री के रूप में, उन्होंने ऐतिहासिक भारत-अमेरिका असैन्य परमाणु करार और अमेरिका-भारत रणनीतिक साझेदारी की नींव में में अहम भूमिका निभायी...।

उन्होंने कहा कि कुछ ही भारतीय राजनेताओं ने 21वीं सदी में वैश्विक नेतृत्व के लिए भारत को तैयार करने में अधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने कहा, ''अमेरिकी लोगों की ओर से, हम शोक की इस घड़ी में भारत के लोगों और मुखर्जी के परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं।''

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Visionary leadership of Pranab Mukherjee helped drive India rise as global power says Pompeo