US Presidential Debate 2020: डोनाल्ड ट्रंप पर जो बाइडेन का तीखा हमला, राष्ट्रपति को बताया सबसे बड़ा झूठा

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्ली Last Modified: Wed, Sep 30 2020. 09:09 IST
offline

तीन नवंबर को होने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले आज पहली बार डोनाल्ड ट्रंप और उनके डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन आमने-सामने हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को 35 दिन बच गए हैं और आज पहली प्रेसिडेंशियल डिबेट हुई। डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बाइडेन आज यानी 30 सितंबर की सुबह (भारतीय समयानुसार) अपनी पहली डिबेट में एक-दूसरे पर हमला बोला। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनके डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन के बीच राष्ट्रपति चुनाव की पहली आधिकारिक बहस (प्रेसिडेंशियल डिबेट) की गर्मागर्म शुरुआत हुई, जिस दौरान स्वास्थ्य देखभाल, कोरोना वायरस और सर्वोच्च न्यायालय के भविष्य जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई।

अमेरिका में तीन नवम्बर को होने वाले चुनाव से पहले ट्रम्प और बाइडेन के बीच तीन बार इस तरह की बहस होगी। 'फॉक्स न्यूज' के मशहूर एंकर क्रिस वालास पहली बहस का संचालन किया। 'सी-स्पैन नेटवर्क्स के स्टीव स्कली 15 अक्टूबर को मियामी (फ्लोरिडा) में होने वाली दूसरी बहस और 'एनबीसी न्यूज' की क्रिस्टन वेलकर 20 अक्टूबर को नैशविले (टेनेसी) में तीसरी बहस का संचालन करेंगी। तो चलिए जानते हैं अमेरिका में पहली प्रेसिडेंशियल डिबेट्स से जुड़ी सभी खास बातें...

US Presidential Debate 2020 live updates:

-डेमोक्रेटिक उम्मीदवार डो बाइडेन ने डोनाल्ड ट्रंप पर रूस का सामना करने में विफल रहने का आरोप लगाया और कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के 'पपी' हैं। 

-कोरोना पर ट्रंप प्रशासन की कार्रवाई पर जो बाइडेन ने सवाल खड़े किए, जिसके जवाब में ट्रंप ने कहा कि जिस तरह से हमने इस महामारी को टैकल किया है, वैसा आप कभी नहीं कर सकते थे। क्योंकि आपके खून में ही ऐसा नहीं है। 

-टैक्स रिटर्न को लेकर न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के जवाब मेंट्रंप ने कहा कि उन्होंने जिस साल वह इलेक्ट हुए थे, उस वक्त $750 टैक्स जमा किया था। इसके बाद बाइेन ने टैक्स रिटर्न दिखाने के लिए कहा। 

-पहली प्रेसिडेंशियल डिबेट में ट्रंप और बाइडेन के बीच तीखी बहस देखने को मिली। बाइडेन ने ट्रंप को झूठा करार दिया। उन्होंने कहा कि यहां हर कोई जानता है कि ट्रंप झूठे हैं। बहस के शुरुआती फेज में ही बाइडेन ने ट्रंप के ऊपर झल्ला कर कहा कि क्या आप चुप रहोगे?

-तथ्य यह है कि अब तक वह जो कुछ भी कह रहे हैं, वह केवल एक झूठ है। मैं यहां उनके झूठ को सामने लाने के लिए नहीं हूं, क्योंकि यहां हर कोई जानता है कि वह एक झूठा है।

-ओबामाकेयर पर  डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप इसे कितनी अच्छी तरह चलाते हैं, सच कहूं तो ओबामाकेयर एक आपदा है।

-सुप्रीम कोर्ट में जज एमी कोनी बैरेट की नियुक्ति को लेकर सवाल पर डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि हमने चुनाव जीता है। चुनाव के कई नतीजे होते हैं। हमारे पास सीनेट है, हमारे पास व्हाइट हाउस है और हमारे पास सभी लोगों द्वारा सम्मानित एक अभूतपूर्व नाम है।

-आप कैसे हैं? जो बिडेन ने अपनी पहली बहस की शुरुआत में राष्ट्रपति ट्रंप अभिवादन किया, जहां उन्होंने हाथ न हिलाकर सोशल डिस्टेंसिंग प्रोटोकॉल का पालन किया।

-अमेरिका में पहली प्रेसिडेंशियल डिबेट शुरू हो गई है और दोनों नेता यानी कि ट्रंप और बाइडेन मंच पर आमने-सामने मौजूद हैं।

उप राष्ट्रपति माइक पेंस (61) और उप राष्ट्रपति पद की डेमोक्रेटिक उम्मीदवार कमला हैरिस (55) के बीच सात अक्टूबर को उटा के 'सॉल्ट लेक' में उप राष्ट्रपति पद के लिए की बहस होगी। 'यूएसए टूडे की पत्रकार सुसन पेज इसका संचालन करेंगी।
सभी चार बहस 'कमिशन ऑन प्रेसिडेंशियल डिबेट्स' (सीबीडी) द्वारा आयोजित की जा रही हैं। ये बहस 90 मिनट की होंगी।

अगस्त में, सीपीडी ने राष्ट्रपति पद के लिए सितम्बर की शुरुआत में बहस का आयोजन कराने के ट्रंप अभियान दल के अनुरोध को ठुकरा दिया था। वहीं ट्रंप ने रविवार को पत्रकारों से कहा था कि न्यूजर्सी के पूर्व गवर्नर क्रिस क्रिस्टी और न्यूयॉर्क के पूर्व मेयर रूडी गिलियानी उन्हें बहस के लिए तैयारी करने में मदद कर रहे हैं।

इससे पहले दिन में ट्रंप  ने ट्वीट कर बहस से पहले बाइडेन के 'ड्रग टेस्ट' कराने की मांग की थी। उन्होंने ट्वीट किया था, 'मैं बहस से पहले या बाद में जो बाइडेन के 'ड्रग टेस्ट' कराने की मांग करता हूं। मैं भी यकीनन यह कराने को तैयार हूं। बहस में उनका प्रदर्शन हमेशा असमान रहा है। केवल ड्रग ही इन विसंगतियों का कारण हो सकते हैं।'

इस बीच, कांग्रेस के 70 से अधिक सदस्यों ने सीपीडी को पत्र लिख जलवायु परिवर्तन को बहस का विषय बनाने की अपील की है। अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए पहली बार 26 सितम्बर 1960 को बहस हुई थी।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।
हिन्दुस्तान मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें