DA Image
5 जुलाई, 2020|3:18|IST

अगली स्टोरी

अमेरिका ने 'अंतरिक्ष में युद्ध' के लिए बनाया कमान, रूस और चीन को बताया 'खतरा'

Space

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने औपचारिक रूप से अमेरिकी अंतरिक्ष कमान की शुरुआत की और कहा कि इससे रूस और चीन जैसे देशों के बढ़ते प्रभाव के बीच यह सुनिश्चित होगा कि अंतरिक्ष में अमेरिका के प्रभुत्व को कभी खतरा नहीं हो। कमान की स्थापना ऐसे समय में की गयी है जब रूस और चीन जैसे देशों से अपने उपग्रहों को खतरे के बारे में अमेरिका की चिंता बढ़ती जा रही है। ट्रंप ने बृहस्पतिवार को कमान की स्थापना के मौके पर व्हाइट हाउस में आयोजित समारोह में कहा, ''जो लोग अंतरिक्ष के सर्वोच्च क्षेत्र में हमें चुनौती देने के लिए अमेरिका को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं, उनके लिए अब खेल बिल्कुल ही बदल जाएगा।

11वीं लड़ाकू कमान की स्थापना को ऐतिहासिक क्षण बताते हुए ट्रंप ने कहा कि यह अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा के लिए अंतरिक्ष की केंद्रीयता को महत्व देती है। जनरल जॉन डब्ल्यू रेमंड अमेरिकी अंतरिक्ष कमान के कमांडर होंगे। इसे अमेरिकी सशस्त्र बलों की 11वीं एकीकृत लड़ाकू कमान के तौर पर स्थापित किया गया है। सीएनएन के अनुसार, कमान में शुरूआत में केवल 287 अधिकारी और जवान होंगे तथा इसका अंतिम ठिकाना अभी तय नहीं किया गया है। इसकी जिम्मेदारियां शुरूआत में अमेरिकी रणनीतिक कमान से ली जाएंगी।

अमेरिकी सेना के कमांडर-इन-चीफ, ट्रंप ने कहा, ''यह बड़ी बात है। सबसे नयी लड़ाकू कमान के तौर पर स्पेसकॉम अंतरिक्ष में अमेरिका के महत्वपूर्ण हितों की रक्षा करेगी जो अगला युद्ध क्षेत्र है।" उन्होंने कहा, ''स्पेसकॉम सुनिश्चित करेगी कि अंतरिक्ष में अमेरिका के प्रभुत्व पर कभी खतरा नहीं हो।" राष्ट्रपति ने कहा, ''यह ऐतिहासिक दिन है।"

ट्रंप प्रशासन ने रूस और चीन को उन देशों के रूप में चिह्नित किया है जो अंतरिक्ष में उसके लिए खतरा हो सकते हैं। उन्होंने कहा, ''हमारे दुश्मन अंतरिक्ष में पृथ्वी की कक्षाओं को ऐसी नयी तकनीकों से लैस कर रहे हैं जो युद्धक्षेत्रों के अभियानों और घर में हमारी जीवनशैली दोनों के लिए महत्वपूर्ण अमेरिकी उपग्रहों को निशाना बना रही हैं।

ट्रंप ने कहा, ''अमेरिका के खिलाफ प्रक्षेपित किसी मिसाइल को पहचानने और उसे नष्ट करने के लिए भी अंतरिक्ष में हमारे परिचालन की स्वतंत्रता महत्वपूर्ण है।" अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ''हमने भूमि, हवा, समुद्र और साइबर जगत को युद्ध क्षेत्र के रूप में पहचाना है और अब हम अंतरिक्ष को एक स्वतंत्र क्षेत्र मानेंगे जिस पर एकीकृत लड़ाकू कमान निगरानी रखेगी।"

ट्रंप ने कहा कि अंतरिक्ष कमान के बाद जल्द ही सेना की छठी ईकाई के तौर पर अमेरिकी अंतरिक्ष बल की स्थापना की जाएगी। इस समारोह में अन्य गणमान्य लोगों के साथ अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस और रक्षा मंत्री मार्क एस्पर भी मौजूद थे। गौरतलब है कि अमेरिकी अंतरिक्ष कमान की दोबारा स्थापना की गई है। वर्ष 1985 से 2002 के बीच भी यह अस्तिव में था। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:US gets space warfare command Donald Trump says its key to country defence