DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   विदेश  ›  Covid-19: US में बढ़ रहा कोरोना के डेल्टा वेरिएंट का संक्रमण, चिंतित विशेषज्ञों ने दी यह सलाह
विदेश

Covid-19: US में बढ़ रहा कोरोना के डेल्टा वेरिएंट का संक्रमण, चिंतित विशेषज्ञों ने दी यह सलाह

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Nishant Nandan
Wed, 16 Jun 2021 08:28 PM
Covid-19: US में बढ़ रहा कोरोना के डेल्टा वेरिएंट का संक्रमण, चिंतित विशेषज्ञों ने दी यह सलाह

कोरोना महामारी का प्रकोप अभी खत्म नहीं हुआ है। यूनाइटेड स्टेट में Covid-19 से लड़ने वाली वैक्सीन नियमित रुप से लोगों को लगाई जा रही है। लेकिन इस बीच विशेषज्ञों ने चेताया है कि डेल्टा वेरिएंट की वजह से अचानक यहां संक्रमण में बढ़ोतरी देखी जा रही है। सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रीवेन्शन (सीडीसी) के मुताबिक यूएस में फिलहाल डेल्ट वेरिएंट के 10 प्रतिशत केस हैं। लेकिन चिंता की बात यह है कि जल्दी ही यह वेरिएंट यहां सबसे बड़ी मुसीबत बन सकता है। 'CNN' की एक रिपोर्ट के मुताबिक यहां मेडिकल एक्सपर्ट्स ने सभी को वैक्सीन दिये जाने के महत्व पर जोर दिया है। 

सर्जन जनरल विवेक मुर्ति ने कहा है कि डेल्टा वेरिएंट, अल्फा वेरिएंट की तुलना में ज्यादा संक्रामक है। यूके में मिलने के बाद यह अमेरिका में सबसे ज्यादा तेजी से फैलने वाला संक्रमण बन गया है। उन्होंने कहा कि 'मैं उन्हें लेकर चिंतित हूं जिन्हें अब तक वैक्सीन नहीं मिला है।' विवेक मूर्ति ने आगे कहा कि 'चिंता की दूसरी बात यह भी है कि कुछ आंकड़ें यह बताते हैं कि यह वेरिएंट और भी ज्यादा खतरनाक हो सकता है। जिसकी वजह से कई तरह की अन्य बीमारियां बढ़ सकती हैं। इसे अभी और भी ज्यादा समझने की जरुरत है।'

आपको बता दें कि हाल ही में पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड ने अपनी एक रिपोर्ट में पाया है कि डेल्टा वेरिएंट से लड़ने के लिए कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज ज्यादा उपयोगी हैं। यह भी पता चला है कि पीफाइजर-बायोएनटेक की वैक्सीन के 2 डोज इस संक्रमण से लड़ने में 96 प्रतिशत तक सक्षम हैं। विवेक मूर्ति ने कहा है कि जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन की एक डोज डेल्टा वैरिएंट से लड़ने में सक्षम है इसे लेकर अभी काफी आंकड़ें नहीं हैं, लेकिन यह पता चला है कि दूसरे स्ट्रेन से लड़ने में यह वैक्सीन जरुर कारगर है। 

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट बताती है कि कोरोना महामारी की शुरुआत से लेकर अब तक यूएस में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। मंगलवार तक यूएस में 43.9 प्रतिशत आबादी को वैक्सीन के दोनों डोज पड़ चुके हैं। वहीं 52.6 प्रतिशत आबादी ने वैक्सीन का पहला डोज ले लिया है। सबसे पहले भारत में मिले डेल्टा वेरिएंट को लेकर अब तक रिपोर्ट में कहा जा चुका है कि यह वेरिएंट बेहद ही खतरनाक और संक्रामक है। इस बीच बीते सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति ने देश के नागरिकों से अपील की थी कि जिन्होंने भी अभी तक कोरोना की वैक्सीन नहीं लगवाई है वो जल्दी से जल्दी वैक्सीन लगवा लें।

संबंधित खबरें