DA Image
8 अगस्त, 2020|2:13|IST

अगली स्टोरी

अमेरिका ने चीनी अधिकारियों के वीजा पर लगाया प्रतिबंध, तिब्बत में अमेरिकी दूतों के प्रवेश में बाधा डाल रहा था चीन

mike pompeo

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने 'रीसिप्रोकल एक्सेस टू तिब्बत' एक्ट के तहत चीनी अधिकारियों के एक समूह के वीजा पर प्रतिबंध लगा दिया है। पोम्पिओ ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, 'आज मैंने पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंध की घोषणा की। ये अधिकारी विदेशियों की तिब्बत तक पहुंच को प्रतिबंधित करने में शामिल थे।"

पोम्पिओ ने कहा कि चीन अमेरिकी राजनयिकों और अन्य अधिकारियों, पत्रकारों और पर्यटकों द्वारा तिब्बती स्वायत्त क्षेत्र (टीएआर) और अन्य तिब्बती क्षेत्रों की यात्रा में लगातार बाधा डाल रहा है। जबकि चीनी अधिकारियों और अन्य नागरिकों संयुक्त राज्य अमेरिका तक आने की पूरी छूट थी।

पोम्पिओ ने कहा कि अमेरिका चीनी सरकार और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के अधिकारियों के वीजा पर प्रतिबंधों की घोषणा कर रहा है, जो 'तिब्बती क्षेत्रों में विदेशियों के लिए पहुंच से संबंधित नीतियों के निर्माण या निष्पादन में काफी हद तक शामिल हैं।'

उन्होंने कहा कि स्थानीय स्थिरता के लिए तिब्बती क्षेत्रों में पहुंचना बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि वहां चीनी मानवाधिकारों का हनन होता है। साथ ही साथ एशिया की प्रमुख नदियों के हेडवाटर्स के पास पर्यावरणीय क्षरण को रोकने में चीन असफल भी है।

ये भी पढ़ें- WHO से आधिकारिक तौर पर हटा अमेरिका, डोनाल्ड ट्रंप ने लगाया था चीन का साथ देने का आरोप

पोम्पिओ ने कहा कि अमेरिका चीन और विदेशों में स्थायी आर्थिक विकास, पर्यावरण संरक्षण और तिब्बती समुदायों की मानवीय स्थितियों को आगे बढ़ाने के लिए काम करना जारी रखेगा। आगे उन्होंने कहा, 'हम तिब्बतियों के लिए सार्थक स्वायत्तता का समर्थन करने, उनके मौलिक और अकल्पनीय मानवाधिकारों के लिए सम्मान, और उनकी अद्वितीय धार्मिक, सांस्कृतिक और भाषाई पहचान के संरक्षण के लिए भी प्रतिबद्ध हैं। सच्ची पारस्परिकता की भावना में, हम अमेरिकी कांग्रेस के साथ मिलकर काम करेंगे ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि अमेरिकी नागरिक टीएआर और अन्य तिब्बती क्षेत्रों सहित पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के सभी क्षेत्रों में पूरी पहुंच रखते हैं।'

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:US announces visa restrictions for Chinese officials under Reciprocal Access to Tibet Act