United Nations Report Malnourished Count Hike in World obesity Also Gain - दुनिया में हर नौ में से एक व्यक्ति भूख से पीड़ित, मोटापे की परेशानी में भी इजाफा: संयुक्त राष्ट्र DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुनिया में हर नौ में से एक व्यक्ति भूख से पीड़ित, मोटापे की परेशानी में भी इजाफा: संयुक्त राष्ट्र

United Nations

दुनिया भर में भूख से निपटने के तमाम प्रयासों के बावजूद पिछले तीन वर्ष में ऐसे लोगों की संख्या बढ़ी है जिन्हें पर्याप्त भोजन नहीं मिल रहा है और हर नौ में से एक व्यक्ति भूख से पीड़ित है। संयुक्त राष्ट्र की सोमवार को जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक विश्व में वर्ष 2018 में 82 करोड़ से अधिक लोगों के पास खाने के लिए पर्याप्त भोजन नहीं था, जबकि वर्ष 2017 में यह संख्या 81.1 करोड़ थी। यह स्थिति 2030 तक विश्व को 'भुखमरी से मुक्त' करने के सतत विकास लक्ष्य की राह में बहुत बड़ी बाधा है। वहीं दूसरी ओर दुनिया के कई देशों में अधिक वजन और मोटापे की समस्या विकराल रूप धारण कर रही है।

रिपोर्ट के मुताबिक जिन देशों में आर्थिक विकास दर धीमी है, खास तौर पर मध्य आय वर्ग वाले देश तथा ऐसे देश जो 'इंटरनेशनल प्राइमरी कमोडिटी ट्रेड' पर पूरी तरह निर्भर हैं, उनमें भूख से पीड़ति लोगों की समस्या काफी गंभीर रूप अख्तियार कर रही है। इसके अलावा कई देशों में आय की असमानता के कारण भी बड़ी संख्या में गरीब और हाशिये के लोगों को पयार्प्त भोजन उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। ऐसे लोग आर्थिक मंदी और संकट से उबर पाने में सक्षम नहीं हैं। 

रिपोर्ट के अनुसार सबसे खराब स्थिति अफ्रीका में है क्योंकि यहां भूख से पीड़ित लोगों की संख्या विश्व में सर्वाधिक है। चिंता की बात यह है कि ऐसे लोगों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। पूर्वी अफ्रीका में आबादी की एक तिहाई हिस्सा अल्पपोषित है। जलवायु, संघर्ष तथा आर्थिक मंदी पर्याप्त भोजन उपलब्ध होने की दिशा में बहुत बड़ी चुनौती हैं। वर्ष 2011 से अफ्रीका के आधे से अधिक देशों में आर्थिक मंदी के कारण भूख से पीड़तिों की संख्या बढ़ी है।

इराक में आठ आईएस आतंकवादी ढेर, भारी मात्रा में गोला-बारूद एवं हथियार जब्त

अल्पपोषित लोगों की सबसे बड़ी संख्या एशियाई देशों में है। एशिया में 50 करोड़ से अधिक लोग अल्पपोषित हैं जिनमें से अधिकतर दक्षिण एशियाई देशों में हैं। वर्तमान में अफ्रीका और एशिया में सर्वाधिक कुपोषित लोग हैं। विश्व में हर दस अविकसित बच्चों में से नौ तथा हर दस कृशकाय बच्चों में से नौ इन दोनों महाद्वीपों से हैं।

आश्चर्यजनक किंतु एक तथ्य यह भी है कि दुनिया के कुल अधिक वजनी और मोटापे के शिकार बच्चों की तीन चौथाई संख्या एशिया और अफ्रीका में है। एशिया तथा अफ्रीका में बच्चे अस्वास्थ्यकर भोजन के कारण मोटापे का शिकार हो रहे हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक विश्व के निम्न और मध्य आय वर्ग के दो अरब से अधिक लोगों को सुरक्षित, पोषक और पर्याप्त भोजन उपलब्ध नहीं हो रहा है। यह समस्या हालांकि उच्च आय वर्ग वाले देशों के कुछ क्षेत्रों में भी है। यूरोप और अमेरिका की आठ प्रतिशत आबादी को पर्याप्त पोषक भोजन नहीं मिलता है। विश्व की तेजी से बढ़ती आबादी को लगातार स्वस्थ एवं पोषक भोजन उपलब्ध कराने के लिए भोजन प्रणाली में आमूल चूक परिवर्तन की जरूरत है।       

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:United Nations Report Malnourished Count Hike in World obesity Also Gain