DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संयुक्त राष्ट्र रिपोर्ट में आया सामने, दुनिया भर में हुए संघर्षों में रिकॉर्ड 12,000 बच्चे हताहत

syria crisis

संयुक्त राष्ट्र की एक नयी रिपोर्ट में जानकारी दी गई है कि पिछले साल विश्व के अलग-अलग हिस्सों में हुए सशस्त्र संघर्षों में 12,000 से अधिक बच्चे मारे गए या घायल हुए। इनमें सबसे ज्यादा बच्चे अफगानिस्तान, फलस्तीन, सीरिया और यमन में हताहत हुए।

रिपोर्ट में बताया कि ये मौतें या चोट पहुंचाना बच्चों के खिलाफ होने वाले उन 24,000 से अधिक “क्रूर हिंसा” में शामिल है जिनकी संयुक्त राष्ट्र ने पुष्टि की है। इनमें लड़ाकों द्वारा बच्चों का इस्तेमाल किया जाना या उनकी नियुक्ति करना, यौन हिंसा, अपहरण और स्कूलों एवं अस्पतालों पर हमले शामिल हैं।

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस की बच्चों एवं सश्स्त्र संघर्षों पर सुरक्षा परिषद को सौंपी गई वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक सशस्त्र समूहों द्वारा किए जाने वाले अपराध नियमित तौर पर हो रहे हैं लेकिन सरकार एवं अंतरराष्ट्रीय बलों द्वारा किए जाने वाले अपराधों की संख्या में “खतरनाक वृद्धि” देखी गई है।

बच्चों के खिलाफ क्रूर अपराध करने वाले देशों को संयुक्त राष्ट्र की काली सूची में शामिल किया गया है लेकिन इस सूची में अब भी कोई बदलाव नहीं हुआ है जिससे मानवाधिकारों के लिए काम करने वाले कई समूहों में गुस्सा है।

यमन को दी सहायता राशि वापस न लें सभी देश : संयुक्त राष्ट्र

वहीं दूसरी ओर, संयुक्त राष्ट्र ने अपील की कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय यमन को लेकर अपनी सहायता वापस न ले। साथ ही कहा कि यह दुनिया का सबसे भयावह मानवीय संकट है इसलिए सभी देश इस युद्धग्रस्त देश की मदद करने की प्रतिबद्धताओं का सम्मान करें।

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम के प्रशासक अचिम स्टेनर ने सोमवार को बताया कि फरवरी में जिनेवा सम्मेलन में यमन को 2.6 अरब डॉलर की मदद देने का संकल्प जताया गया था लेकिन संयुक्त राष्ट्र को इस राशि का 36 प्रतिशत से भी कम हिस्सा मिला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:United Nations Report Conflicts kill and hurt a record 12000 children