ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशयूक्रेन का इंतकाम, अमेरिका के दिए हथियार से उड़ाई बेकरी; बिछ गईं 28 लाशें

यूक्रेन का इंतकाम, अमेरिका के दिए हथियार से उड़ाई बेकरी; बिछ गईं 28 लाशें

अमेरिका के दिए रॉकेट सिस्टम का इस्तेमाल कर यूक्रेन ने रूस के कब्जे वाले शहर पर हमला किया। इस हमले में 28 लोगों की मौत हो गई है। हमला तब हुआ जब दर्जनों लोग एक बेकरी में मौजूद थे।

यूक्रेन का इंतकाम, अमेरिका के दिए हथियार से उड़ाई बेकरी; बिछ गईं 28 लाशें
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,मॉस्कोSun, 04 Feb 2024 09:29 PM
ऐप पर पढ़ें

रूस के नियंत्रण वाले लिसिचांस्क शहर में एक बेकरी पर किये गए यूक्रेन के हमले में कम से कम 28 लोगों की मौत हो गई। रूसी अधिकारियों ने यह जानकारी दी। स्थानीय नेता लियोनिड पेस्कनिक ने 'टेलीग्राम' पर एक बयान में कहा कि शनिवार को हुए इस हमले में मारे गए लोगों में एक बच्चा भी शामिल है। उन्होंने कहा कि आपात सेवा कर्मियों ने मलबे के अंदर से 10 लोगों को बाहर निकाला है। वहीं, कीव में यूक्रेन के अधिकारियों ने इस घटना पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

दर्जनों लोग बेकरी में थे मौजूद
रूसी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया जखारोवा ने रविवार को कहा कि यूक्रेन ने अमेरिका द्वारा आपूर्ति की गई हाई मोबिलिटी आर्टिलरी रॉकेट सिस्टम (HIMARS) का उपयोग करके इमारत पर हमला किया है। जिस दौरान यह हमला हुआ उस वक्त इमारत में दर्जनों नागरिक मौजूद थे। आपातकालीन मंत्रालय ने शनिवार देर रात एक वीडियो जारी किया था। वीडियो में एक मंजिला इमारत के खंडहरों से शव ढूंढते और स्ट्रेचर पर खून से लथपथ लोगों को ले जाते हुए देखा जा सकता है।

अलजजीरा के मुताबिक, एक मंजिला इमारत में एड्रियाटिक नाम की एक बेकरी थी, जिसमें लोग वीकेंड के दौरान खाने-पीने का लुत्फ उठा रहे थे। इस बेकरी का खाना स्थानीयों को खूब पसंद आता है इस वजह से यहां भारी भीड़ भी होती है। यूक्रेन ने इस घटना पर आधिकारिक तौर पर कोई टिप्पणी नहीं की है।

2022 के युद्ध में रूस ने कब्जाया शहर
रूस-यूक्रेन के बीच युद्ध के लगभग दो साल बाद भी दोनों तरफ से स्थिति भयावह ही बनी हुई। रूस इस बात पर आमादा है कि वह यूक्रेन को तबाह करके ही मानेगा, वहीं जेलेंस्की की जिद है वह रूस के आगे घुटने नहीं टेकेंगे। दोनों पक्षों के बीच सर्दियों के दौरान घातक हमले शुरू कर दिए हैं। रूस के आक्रमण से पहले लिसिचांस्क की आबादी लगभग 110,000 थी। 2022 में एक घातक युद्ध के बाद यह शहर रूसी सेना के कब्जे में आ गया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें