DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'कश्मीर से आगे की सोचें भारत-पाकिस्तान, इमरान देश की माली हालत पर दें ध्यान'

indiana and pakistan flag  file pic

ब्रिटिश हाउस ऑफ लार्ड्स के सदस्य एवं भारतीय मूल के लार्ड जीतेश गढिया और सीआईए के पूर्व निदेशक जनरल डेविड पेट्रायस ने भारत और पाकिस्तान से कश्मीर से परे हटकर आंतरिक चुनौतियों पर ध्यान केंद्रित करने तथा अपने द्विपक्षीय संबंधों को बहाल करने पर ध्यान केन्द्रित करने का आह्वान किया है।

गढिया और पेट्रायस ने दोनों परमाणु शक्ति संपन्न पड़ोसी देशों को अपने मतभेदों को वार्ता के जरिये हल करने का अनुरोध 'द डेली टेलीग्राफ में एक संयुक्त स्तंभ लिखा है। इस दैनिक के स्तंभकारों में ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जानसन भी हैं।

उन्होंने लिखा है, ''दक्षिण एशिया की दो अहम परमाणु शक्तियों के बीच बढ़े तनाव के समय दोनों देश विंस्टन चर्चिल की सलाह --'लंबी वार्ता करना युद्ध की तुलना में बेहतर है-- का पालन करते हुए अपने-अपने देश में नागरिकों की सर्वश्रेष्ठ सेवा कर सकते हैं। फिर (वे) अपने पड़ोसियों द्वारा पेश की जाने वाली चुनौतियों के बजाय अपनी अंदरूनी चुनौतियों पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं।"

कश्मीर पर UNSC में शिकस्त के बाद इमरान खान ने 'थपथपाई' अपनी पीठ

गढिया और पेट्रायस ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को कश्मीर को लेकर विवाद पर समय एवं धन खर्च करने के बजाय देश की नाजुक आर्थिक स्थिति पर ध्यान केंद्रित करने की सलाह दी, जो (पाक) दिवालियेपन की कगार पर है क्योंकि इसने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) से अरबों डॉलर का एक और राहत पैकेज के लिए बात की है।

उन्होंने कहा, ''पाकिस्तान लंबे समय से यह स्वीकार करने से इनकार करता रहा है कि देश के लिए सर्वाधिक गंभीर खतरा भारत नहीं, बल्कि उसके आंतरिक चरमपंथी हैं और वहां के अपर्याप्त विकसित आर्थिक अवसर हैं। उन्होंने अनुच्छेद 370 पर भारत के फैसले पर कहा, ''काफी कुछ दांव पर लगाने की रणनीति के साथ बहुत कुछ इसके क्रियान्वयन की गुणवत्ता पर निर्भर करेगा। हालांकि भारत की युक्ति पर सवाल उठ सकते हैं, लेकिन अपने सभी नागरिकों को समान अधिकार देने की उसकी रणनीति में खामी ढूंढना मुश्किल होगा।"

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UK peer Lord Jitesh Gadhia CIA ex director David Petraeus urge India Pakistan to look beyond Kashmir