ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशखून पीने वाले नरपिशाच हैं नेतन्याहू, फिलिस्तीन के लिए भड़का इस्लामिक मुल्क, US पर भी हमला

खून पीने वाले नरपिशाच हैं नेतन्याहू, फिलिस्तीन के लिए भड़का इस्लामिक मुल्क, US पर भी हमला

तुर्की के राष्ट्रपति अर्दोआन ने कहा, 'पूरी दुनिया नेतन्याहू की बर्बरता को देख रही है। वह एक सनकी, बीमार, मनोरोगी और खून पीने वाले नरपिशाच हैं।' उन्होंने अमेरिका पर भी तीखा हमला बोला।

खून पीने वाले नरपिशाच हैं नेतन्याहू, फिलिस्तीन के लिए भड़का इस्लामिक मुल्क, US पर भी हमला
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 29 May 2024 05:15 PM
ऐप पर पढ़ें

इजरायल और हमास के बीच गाजा में संघर्ष जारी है। गाजा के राफा शहर पर भी इजरायल हमला बोल रहा है और पूरी दुनिया की इस पर नजर है। यही नहीं पिछले दिनों इजरायल की एक गलती से फिलिस्तीनी शरणार्थियों के टेंट में आग लग गई थी। इसके चलते 45 लोगों की मौत हो गई थी। दुनिया भर में 'ऑल आइज ऑन राफा' कैंपेन भी चलाया जा रहा है। इस बीच इस्लामिक देश तुर्की ने फिलिस्तीन का पक्ष लेते हुए इजरायल पर तीखा अटैक किया है। राष्ट्रपति रेचेप तैयप अर्दोआन ने बुधवार को इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू पर सीधा हमला बोला। 

उन्होंने नेतन्याहू को खून का प्यासा नरपिशाच करार दिया। अर्दोआन ने कहा, 'पूरी दुनिया नेतन्याहू की बर्बरता को देख रही है। वह एक सनकी, बीमार, मनोरोगी और खून पीने वाले नरपिशाच हैं।' उन्होंने कहा कि आज की युवा पीढ़ी देख रही है कि यहूदी अत्याचार क्या है। मुझे उम्मीद है कि अब जो क्रांति फैली है, उससे यहूदियों के इस अत्याचार का अंत हो सकेगा। उन्होंने कहा कि टेंट में जिस तरह से निर्दोष शरणार्थी मारे गए हैं, उसको कोई भी जायज नहीं ठहरा सकता। अर्दोआन ने भी अमेरिका पर भी हमला बोला और कहा कि उसके हाथ खून से सने हैं।

तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा कि अमेरिका भी गाजा में नरसंहार के लिए उतना ही जिम्मेदार है, जितना इजरायल है। एक तरफ तुर्की इस कदर भड़का है तो वहीं इजरायल अपने रुख पर कायम है। उसका कहना है कि गाजा में पिछले 7 महीनों से जंग चल रही है और हम आगे भी सात महीने तक जंग के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि हमने गाजा के एक बड़े हिस्से पर नियंत्रण कर रखा है। हमास को हम नेस्तनाबूद करने की ओर हैं और हम नहीं चाहते कि पकड़ को छोड़ें। इसलिए यह जारी रहेगा। गौरतलब है कि अब तक जारी संघर्ष में गाजा पट्टी में 36 हजार लोग मारे जा चुके हैं, जबकि 80 हजार से ज्यादा बुरी तरह जख्मी हुए हैं।