ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विदेशनेपाल में फंसी हैं सबसे तेज माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली त्सांग-यिन-हंग, घर जाने के लिए कर रही संघर्ष

नेपाल में फंसी हैं सबसे तेज माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली त्सांग-यिन-हंग, घर जाने के लिए कर रही संघर्ष

सबसे कम समय में माउंट एवरेस्ट फतह करने वाली हांगकांग की त्यांस यिन-हंग अब चीन के दूसरे पर्वतारोहियों के साथ नेपाल से बाहर निकलने के लिए संघर्ष कर रही है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए हांगकांग...

नेपाल में फंसी हैं सबसे तेज माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली त्सांग-यिन-हंग, घर जाने के लिए कर रही संघर्ष
Nootan Vaindelलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 22 Jun 2021 01:37 PM
ऐप पर पढ़ें

सबसे कम समय में माउंट एवरेस्ट फतह करने वाली हांगकांग की त्यांस यिन-हंग अब चीन के दूसरे पर्वतारोहियों के साथ नेपाल से बाहर निकलने के लिए संघर्ष कर रही है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए हांगकांग और चीन ने नेपाल से आने वाले लोगों पर प्रतिबंध लगा दिए हैं।

नेपाल में कोरोना वायरस में वृद्धि दर्ज की गई है। एवरेस्ट के बेस कैंपों में भी संक्रमितों के होने की सूचना मिली थी। जिसके कारण कई देशों ने वहां से यात्रा को रोक दिया है। नेपाल में संक्रमण की दैनिक सकारात्मक दर 24% से अधिक है, जो इस समय दुनिया में सबसे अधिक है। एवरेस्ट पर चढ़ाई का मौसम शुरू होने के बाद यात्रा प्रतिबंध लगाया गया था। 

पिछले महीने 25 घंटे और 50 मिनट में माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली 44 वर्षीय त्सांग ने कहा कि घर वापस जाना 8,848.86 मीटर (29,032 फीट) की चोटी पर चढ़ने की तुलना में ज्यादा कठिन प्रतीत होता है।

 काठमांडू में अपने होटल से त्सांह ने रॉयटर्स को बताया, "मुझे लगता है कि मेरे लिए चोटी पर चढ़ना संभव और आसान था, लेकिन घर वापस जाना नहीं। घर जाने  का कोई रास्ता नहीं है।"

नेपाल के अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने चीन से दो साप्ताहिक उड़ानों की अनुमति दी है, लेकिन ये चालू नहीं थीं। काठमांडू में चीनी दूतावास ने उड़ानों की कमी पर रॉयटर्स के ईमेल का तुरंत जवाब नहीं दिया। चीन या हांगकांग में किसी भी स्थान के लिए (नेपाल से) कोई उड़ान नहीं है अन्य देशों के पर्वतारोही पहले ही मुख्य रूप से चार्टर्ड उड़ानों से लौट चुके हैं।

  

epaper