DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सख्ती: ट्रंप प्रशासन ने और सख्त किए वीजा नियम, देनी होंगी ये जानकारियां

Paris climate agreement

अमेरिकी वीजा के लिए आवेदन करने वालों को अब बताना होगा कि पिछले पांच साल से सोशल मीडिया पर उनके कितने अकाउंट हैं। उन्हें अपने जीवन की बीते 15 साल की जानकारियां भी देनी होंगी। अमेरिकी ट्रंप प्रशासन ने दुनियाभर के अमेरिकी वीजा आवेदकों के लिए एक नई प्रश्नावली बनाई है, जिसमें ये जानकारियां मांगी गई हैं।

नई प्रश्नावली अमेरिका आने वाले संभावित लोगों की जांच को सख्त बनाने के प्रयास का हिस्सा है। प्रबंधन और बजट कार्यालय ने 23 मई को इसे मंजूरी दी। हालांकि शैक्षिक अधिकारियों और अकादमिक समूहों ने इसकी काफी आलोचना की थी। आलोचकों के अनुसार, नए सवाल से वीजा प्रक्रिया में विलंब होगा। इससे अमेरिका आने की इच्छा रखने वाले अंतरराष्ट्रीय छात्रों और वैज्ञानिकों को निराशा होगी। 

नई प्रक्रियाओं के तहत, दूतावास अधिकारी वीजा आवेदकों से उनका पूर्व पासपोर्ट नंबर, पांच साल का सोशल मीडिया हैंडल, ईमेल पते, फोन नंबर और जीवन संबंधी बीते 15 साल की जानकारी मांग सकते हैं। जीवन संबंधी जानकारी में ठिकानों के पते, रोजगार और यात्रा के ब्योरे शामिल होंगे।

विदेश विभाग के एक अधिकारी ने बुधवार को कहा, अधिकारी अतिरिक्त जानकारी के लिए उस समय अनुरोध करेंगे, जब उन्हें यह लगेगा कि आवेदक की पहचान सुनिश्चित करने या अपेक्षाकृत अधिक कठोर राष्ट्रीय सुरक्षा जांच के लिए अपेक्षित जानकारी जरूरी है। 

विदेश विभाग ने पूर्व में कहा था कि सख्त जांच उन वीजा आवेदकों पर लागू होगी, जिनके मामले में आतंकवाद या राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित अन्य वीजा असंबद्धताओं के संबंध में अतिरिक्त जांच की जरूरत समझी जाएगी।

प्रबंधन और बजट कार्यालय ने नए सवालों को तीन साल के लिए सामान्य मंजूरी की बजाय छह माह के लिए आपात मंजूरी दी है। हालांकि नए सवाल एच्छिक हैं। लेकिन आवेदन पत्र में कहा गया है कि सूचना मुहैया कराने में नाकामी से व्यक्तिगत वीजा आवेदन की प्रक्रिया में विलंब हो सकता है या उसे रोका जा सकता है।  इस कदम को आतंकवाद के खिलाफ एहतियाती कदम माना जा रहा है। लेकिन आलोचकों के मुताबिक इससे अमेरिका आने वाले लोगों की परेशानी बढ़ जाएगी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Trump administration has rolled out a new questionnaire for US visa applicants