ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशभारत में हंसी के पात्र बन गए हैं जस्टिन ट्रूडो, दोनों देशों में तनाव के बीच कनाडाई पीएम के मजे लेने लगे अपने

भारत में हंसी के पात्र बन गए हैं जस्टिन ट्रूडो, दोनों देशों में तनाव के बीच कनाडाई पीएम के मजे लेने लगे अपने

भारत के साथ तनाव भरे रिश्तों को लेकर कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो अपने देश में लगातार घिर रहे हैं। अब अपने देश के नेता उनका मजाक बनाने लगे हैं। कंजर्वेटिव पार्टी के नेता ने भी निशाना साधा है।

भारत में हंसी के पात्र बन गए हैं जस्टिन ट्रूडो, दोनों देशों में तनाव के बीच कनाडाई पीएम के मजे लेने लगे अपने
Deepakलाइव हिंदुस्तान,ओटावाSun, 22 Oct 2023 04:41 PM
ऐप पर पढ़ें

भारत के साथ तनाव भरे रिश्तों को लेकर कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो अपने देश में लगातार घिर रहे हैं। अब अपने ही देश के नेता उनका मजाक बनाने लगे हैं। इसी क्रम में कंजर्वेटिव पार्टी ऑफ कनाडा के नेता पियरे पोइलीवरे ने भी ट्रूडो पर निशाना साधा है। विपक्ष के नेता के मुताबिक ट्रूडो भारत में हंसी के पात्र बन गए हैं। साथ ही उन्होंने भारत के साथ राजनयिक संबंध निभाने में नाकाम रहने को लेकर भी ट्रूडो पर सवाल उठाए हैं। इतना ही नहीं, कनाडा में हिंदू मंदिरों पर हमलों की भी उन्होंने आलोचना की है। उन्होंने कहा कि इस तरह के हमला करने वालों पर क्रिमिनल चार्जेज लगाए जाने चाहिए।

बताया अक्षम और गैर-पेशेवर बताया
पोलिवरे ने यह बातें नमस्ते रेडियो टोरंटो के साथ इंटरव्यू में कहीं। उन्होंने कहा कि दुनिया की सबसे बड़ी डेमोक्रेसी ट्रूडो का मजाक बनाया जा रहा है। कनाडाई राजनयिकों को भारत छोड़ने के लिए कहे जाने के बारे में पूछे जाने पर पोइलीवरे ने ट्रूडो को दोषी ठहराया। साथ ही कहा कि वह अक्षम और गैर पेशेवर हैं। उन्होंने आगे कहा कि हालत यह है कि कनाडा के भारत समेत सभी बड़े देशों से रिश्ते खराब हो चुके हैं।

गौरतलब है कि खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या को लेकर दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ने के बाद कनाडा के 41 राजनयिकों ने भारत छोड़ दिया था। भारत ने कनाडा को अपने राजनयिकों को हटाने के लिए डेडलाइन तय की थी। साथ ही यह भी कहा था कि अगर वे देश नहीं छोड़ते हैं तो उनसे सुविधाएं भी छीन ली जाएंगी।

हिंदू मंदिरों पर हमले पर भी आपत्ति जताई
पोइलीवरे ने कहा कि कनाडा के भारत के साथ रिश्ते प्रोफेशनल होने चाहिए और अगर वह प्रधानमंत्री बनते हैं तो इसे बहाल करेंगे। उन्होंने कहा कि भारत धरती पर सबसे बड़ा लोकतंत्र है। कुछ मामलों पर असहमति हो सकती है, लेकिन संबंध प्रोफेशनल होने चाहिए। कंजरवेटिव पार्टी के नेता ने कनाडा के विदेश संबंधों के बारे में बात करते हुए यह भी कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ट्रूडो को डोरमैट की तरह इस्तेमाल कर रहे हैं। पोइलीवरे ने कनाडा में हिंदू मंदिरों पर जिस तरह से हमले हो रहे हैं, उसकी भी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि मैं हिंदू मंदिरों पर हुए सभी हमलों की कड़ी निंदा करता हूं। हिंदू नेताओं के खिलाफ धमकियां, सार्वजनिक कार्यक्रमों में भारतीय राजनयिकों के खिलाफ आक्रामकता पूरी तरह से अस्वीकार्य है। मैं इसका विरोध करना जारी रखूंगा।