DA Image
हिंदी न्यूज़ › विदेश › कोरोना वायरस का असर, बीते पांच महीनों में 70 प्रतिशत बढ़ गया भारत और चीन के बीच व्यापार
विदेश

कोरोना वायरस का असर, बीते पांच महीनों में 70 प्रतिशत बढ़ गया भारत और चीन के बीच व्यापार

सुतीर्थो पात्रानोबिस हिन्दुस्तान टाइम्स,बीजिंगPublished By: Priyanka
Wed, 09 Jun 2021 08:55 AM
कोरोना वायरस का असर, बीते पांच महीनों में 70 प्रतिशत बढ़ गया भारत और चीन के बीच व्यापार

गलवान घाटी में बीते साल हुई हिंसक झड़प के बाद भारत और चीन के रिश्तों में तनाव बढ़ा लेकिन इसका असर दोनों देशों के व्यापार पर बिलकुल भी नहीं हुआ है। संभवतः इसकी सबसे बड़ी वजह कोरोना वायरस है लेकिन आंकड़ों में देखें तो भारत और चीन के बीच इस साल के शुरुआती पांच महीनों में व्यापार पिछले साल की तुलना में 70 फीसदी तक बढ़ गया है। हालांकि, यह आंकड़े चीन की ओर से पेश किए गए हैं लेकिन भारतीय आंकड़े भी देखें तो दोनों देशों में व्यापार 55.83 फीसदी बढ़ा है।

हालांकि, दोनों देशों के आंकड़ों में फर्क की वजह अभी तक पता नहीं लग सकी है। दोनों ही देश डॉलर में व्यापार करते हैं। चीनी मीडिया ने इसे 'शानदार बढ़ोतरी' बताते हुए कहा है कि सीमा पर तनाव के बावजूद यह दोनों देशों के बीच व्यापार संबंधों में लचीलेपन का संकेत है।

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, '2021 के पहले पांच महीनों में चीन और भारत के बीच व्यापार 70.1 फीसदी बढ़ा है। जनवरी से मई के बीच सालाना आंकड़े देखें तो चीन का भारत को निर्यात 64.1 फीसदी बढ़ा है, वहीं आयात में 90.2 फीसदी बढ़ोतरी हुई है।'

वहीं, भारत के आंकड़ों के मुताबिक, चीन से आयात में 59.13 फीसदी की बढ़त हुई है और अब यह 33.49 अरब डॉलर यानी 2441.42 अरब रुपये पर पहुंच गया है। वहीं, चीन को निर्यात में भी 46.09 फीसदी वृद्धि हुई है और अब यह 10.41 अरब डॉलर यानी 758.89 अरब रुपये तक पहुंच गया है।

इस अवधि में दोनों देशों के बीच हुआ व्यापार चीन के किसी भी अन्य देश से व्यापार की तुलना में ज्यादा है। ताजा आंकड़े चीन के जनरल एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ कस्टम्स ने सोमवार को जारी किए हैं। चीनी आंकड़ों के मुताबिक, चीन का भारत को निर्यात अप्रैल से मई के बीच तेजी से बढ़ा है। संभवतः ऐसा इसलिए क्योंकि इस दौरान भारत कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा था और उसने चीन से बड़ी मात्रा में स्वास्थ्य उपकरण मंगवाए थे।

भारत और चीन के बीच बीते साल यानी 2020 में व्यापार 9.1 प्रतिशत कम हो गया था। हालांकि, चीन तब भी भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार देश था। ये आंकड़े कैलेंडर वर्ष के लिए थे।

भारत में अप्रैल से मार्च को वित्त वर्ष माना जाता है और सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, 2020-21 के बीच चीन को भारत की ओर से किए जा रहे निर्यात में 27.53 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है जबकि चीनी आयात में 0.07 फीसदी की कमी देखी गई है। इस वित्त वर्ष में भारत और चीन के बीच कुल व्यापार 86.4 अरब डॉलर का रहा।

संबंधित खबरें