ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशISI से था कनेक्शन, पाक से चलाता था दहशत का नेटवर्क; ऐसा-वैसा नहीं था मारा गया आतंकी

ISI से था कनेक्शन, पाक से चलाता था दहशत का नेटवर्क; ऐसा-वैसा नहीं था मारा गया आतंकी

मारे गए उग्रवादी का नाम शेख जमील-उर-रहमान है। वह कश्मीर के पुलवामा का रहने वाला था। पाकिस्तान के ऐबटाबाद में उसकी रहस्यमय तरीके से मौत हुई है।

ISI से था कनेक्शन, पाक से चलाता था दहशत का नेटवर्क; ऐसा-वैसा नहीं था मारा गया आतंकी
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 03 Mar 2024 05:50 PM
ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान के एबटाबाद में एक और मोस्ट वांटेड आतंकवादी की रहस्यमय तरीके से मौत हो गई। ऐसा बताया जा रहा है कि उग्रवादी का शव शनिवार को बरामद किया गया लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि उसकी मौत कैसे हुई। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, मारे गए उग्रवादी का नाम शेख जमील-उर-रहमान है। वह कश्मीर के पुलवामा का रहने वाला था। रहमान यूनाइटेड जिहाद काउंसिल (यूजीसी) और तहरीक-उल-मुजाहिदीन (टीयूएम) का स्वयंभू महासचिव था। 2022 में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने रहमान को आतंकवादी घोषित कर दिया।

रहमान जम्मू-कश्मीर में कई हमलों में शामिल था। इतना ही नहीं, वह पाकिस्तान की जासूसी एजेंसी आईएसएआई के साथ भी नियमित संपर्क में था। ऐसा दावा किया जा रहा है कि 1990 के दशक में टीयूएम आतंकवादी समूह जम्मू-कश्मीर में काफी सक्रिय हो गया था लेकिन भारतीय सेना ने शुरुआत में ही इस उग्रवादी संगठन की कमर तोड़ दी। 1991 में इस संगठन के संस्थापक यूनिस खान की मृत्यु के बाद, टीयूएम अब उस तरह से अपना समर्थन नहीं कर सका।

पाकिस्तान से कश्मीर में चलाता था आतंकी नेटवर्क
पुलिस सूत्रों के मुताबिक रहमान ने जम्मू-कश्मीर में टीयूएम संगठन को सक्रिय करने का काम शुरू किया। उसने खुद को उस संगठन का महासचिव भी घोषित कर दिया था। रहमान ने टीयूएम को पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन यूजेसी की छत्रछाया में लाने के लिए काम किया। यूजेसी भी लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, अल बद्र, हिजबुल मुजाहिदीन जैसे आतंकवादी संगठनों की एक सक्रिय शाखा है। रहमान जम्मू-कश्मीर के युवाओं द्वारा पाकिस्तान से भारत में आतंकवादियों की भर्ती, प्रशिक्षण और घुसपैठ में शामिल था। रहमान ने पाकिस्तान में शरण ले रखी थी। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, वह वहीं से जम्मू-कश्मीर में आतंकी नेटवर्क चलाता था।

कई मोस्ट वांटेड आतंकियों की हुई रहस्यमय तरीके से मौत
पिछले कुछ महीनों में पाकिस्तान में कई मोस्ट वांटेड आतंकियों की रहस्यमय तरीके से मौत हो गई है। पिछले साल नवंबर में खैबर पख्तूनख्वा में अज्ञात हमलावरों ने लश्कर कमांडर अकरम गाजी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उसी साल दिसंबर में कराची में लश्कर के एक अन्य कमांडर अंदन अहमद की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इसी साल फरवरी में लश्कर के एक और आतंकी नेता आजम चीमा की फैजाबाद में दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी, वह 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड में से एक था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें