DA Image
हिंदी न्यूज़ › विदेश › अफगान में तालिबान के कब्जे के बाद पाकिस्तान में कई गुना बढ़ गए आतंकी हमले: रिपोर्ट
विदेश

अफगान में तालिबान के कब्जे के बाद पाकिस्तान में कई गुना बढ़ गए आतंकी हमले: रिपोर्ट

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Mrinal Sinha
Tue, 28 Sep 2021 01:12 PM
अफगान में तालिबान के कब्जे के बाद पाकिस्तान में कई गुना बढ़ गए आतंकी हमले: रिपोर्ट

दक्षिण एशिया आतंकवाद पोर्टल द्वारा संकलित आंकड़ों के अनुसार, जब से तालिबान ने अफगानिस्तान में कब्जा जमाया है, तब से पाकिस्तान में आतंकवादी हमले कई गुना बढ़ गए हैं। रिपोर्ट से पता चला है कि संयुक्त राज्य की सेना के युद्धग्रस्त अफगानिस्तान से हटने और तालिबान द्वारा काबुल पर कब्जा करने के बाद, पाकिस्तान में घातक आतंकवादी हमले चार साल से अधिक समय में अपने उच्चतम स्तर तक बढ़ गए हैं।

ब्लूमबर्ग समाचार एजेंसी द्वारा देखे गए लेटेस्ट रिव्यु के अनुसार - पाकिस्तान में अकेले अगस्त में कम से कम 35 आतंकवादी हमले देखे गए, जिनमें 52 नागरिक मारे गए। ये आंकड़ा फरवरी 2017 के बाद सबसे अधिक है। इनमें से अधिकांश हमलों को तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) को जिम्मेदार ठहराया गया है। ये तालिबान का एक शाखा आतंकवादी संगठन, जिसके बारे में माना जाता है कि इसे तालिबान द्वारा 'प्रोत्साहित' किया जाता है।

दक्षिण एशिया आतंकवाद पोर्टल (एसएटीपी) दक्षिण एशिया में आतंकवाद और कम तीव्रता वाले युद्ध पर सबसे बड़ी वेबसाइट है; यह क्षेत्र में सभी चरमपंथी आंदोलनों के अनुसंधान और विश्लेषण के लिए डेटाबेस और विश्लेषणात्मक संदर्भ बनाता है।

टीटीपी, जिसे वैकल्पिक रूप से 'पाकिस्तानी तालिबान' के रूप में संदर्भित किया जाता है, का उद्देश्य देश के खिलाफ हिंसक सैन्य अभियान चलाकर इस्लामाबाद में सरकार को उखाड़ फेंकना है। यह कई अन्य आतंकी संगठनों के साथ संबंध रखता है, जिसमें अल-कायदा शामिल है। विशेषज्ञों के अनुसार, यह अफगानिस्तान में जो कुछ हुआ उससे काफी उत्साहित था।

संबंधित खबरें