ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशकैसे चुनाव कराएगा पाक, जब पुलिस वाले ही सेफ नहीं; आतंकवादी हमले में 10 की मौत

कैसे चुनाव कराएगा पाक, जब पुलिस वाले ही सेफ नहीं; आतंकवादी हमले में 10 की मौत

पाकिस्तान में चुनाव से ठीक तीन दिन पहले एक और आतंकवादी हमला हुआ है। खैबर पख्तूनख्वा के डेरा इस्माइल खान में हुए अटैक में 10 पुलिसकर्मी मारे गए हैं। इसकी अब तक किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली है।

कैसे चुनाव कराएगा पाक, जब पुलिस वाले ही सेफ नहीं; आतंकवादी हमले में 10 की मौत
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,पेशावरMon, 05 Feb 2024 11:45 AM
ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान में तीन दिन बाद ही यानी 8 फरवरी को राष्ट्रीय चुनाव होने हैं और उससे पहले आतंकवादी हमले भी लगातार जारी हैं। इससे पाकिस्तान की सुरक्षा व्यवस्था और चुनाव पर भी सवाल खड़े होते हैं। इस बीच सोमवार को तड़के ही खैबर पख्तूनख्वा के डेरा इस्माइल खान में भीषण आतंकवादी हमला हुआ है। इस आतंकी हमले में 10 पुलिसकर्मी मारे गए हैं और 6 बुरी तरह से जख्मी हुए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 30 से ज्यादा आतंकियों ने चोडवान पुलिस थाने को तीन तरफ से घेर कर हमला किया, जिसमें पुलिस वालों को काउंटर अटैक का मौका ही नहीं मिला। 

स्थानीय पुलिस अधिकारी नासिर महमूद ने हमले में 10 पुलिस वालों के मारे जाने की पुष्टि की है। खैबर पख्तूनख्वा के पुलिस चीफ अख्तर हयात गांदापुर ने कहा, 'तीन दिशाओं से करीब 30 से ज्यादा आतंकवादियों ने हमला किया था। ढाई घंटे तक पुलिस वालों और आतंकियों के बीच फायरिंग होती रही।' उन्होंने कहा कि यह आतंकी हमला ऐसा था कि पुलिस वालों को बचाव का मौका नहीं मिल सका। हालांकि उन्होंने बहुत देर तक आतंकवादियों का मुकाबला किया, लेकिन उन्हें ज्यादा नुकसान नहीं हुआ।   

डीएसपी मलिक अनीसुल हसन ने कहा कि पुलिस वालों को नुकसान इसलिए भी ज्यादा हुआ क्योंकि आतंकवादी जब थाने में घुसे तो उन्होंने ग्रेनेड अटैक किए। इसकी वजह से ज्यादा नुकसान हुआ। पिछले कुछ दिनों में बलूचिस्तान और खैबर पख्तूनख्वा में कई आतंकवादी हमले हुए हैं। हालांकि इसके बाद भी पाकिस्तान चुनाव आयोग का कहना है कि चुनाव तय समय में ही होंगे। खैबर पख्तूनख्वा के कार्यवाहक मुख्यमंत्री अरशद हुसैन शाह ने हमलों की निंदा की है। बता दें कि खैबर पख्तूनख्वा में तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान की सक्रियता रही है। हालांकि अब तक तालिबान समेत किसी भी आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें