ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशजापान में दहली जमीन, आए 7.4 तीव्रता वाले तेज झटके; सुनामी की चेतावनी जारी

जापान में दहली जमीन, आए 7.4 तीव्रता वाले तेज झटके; सुनामी की चेतावनी जारी

जापान में भूंकप के तेज झटके महसूस किए गए हैं। जापान मौसम विज्ञान एजेंसी ने इशिकावा और आसपास के प्रांतों में भूकंप आने की सूचना दी, जिनमें से एक की शुरुआती तीव्रता 7.4 मापी गई।

जापान में दहली जमीन, आए 7.4 तीव्रता वाले तेज झटके; सुनामी की चेतावनी जारी
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,टोक्योMon, 01 Jan 2024 02:28 PM
ऐप पर पढ़ें

जापान ने पश्चिमी क्षेत्रों में भूकंप के तेज झटके महसूस किए जाने के बाद सोमवार को सुनामी की चेतावनी जारी की। जापान मौसम विज्ञान एजेंसी ने इशिकावा और आसपास के प्रांतों में भूकंप आने की सूचना दी, जिनमें से एक की शुरुआती तीव्रता 7.4 मापी गई। जापान के सरकारी प्रसारक 'एनएचके टीवी' ने चेतावनी दी कि समुद्र में लहरें पांच मीटर तक पहुंच सकती हैं। इसने लोगों से जल्द से जल्द ऊंचे स्थानों या पास की इमारत की ऊपरी मंजिलों पर चले जाने का आग्रह किया। भूंकप के कारण क्षति की तत्काल कोई सूचना नहीं है।

एनएचके के मुताबिक, जापान के पश्चिमी तट पर निगाटा और अन्य क्षेत्रों में लगभग तीन मीटर ऊंची सुनामी आने की आशंका जताई गई। इसके अनुसार, समुद्र तट पर कम ऊंचाई की सुनामी लहरें पहले ही दर्ज की गई हैं। भूकंप प्रभावित क्षेत्र में स्थित एक परमाणु संयंत्र 'टोक्यो इलेक्ट्रिक पावर कंपनी' ने कहा कि संयंत्र में अब तक किसी तरह की संचालन संबंधी दिक्कत सामने नहीं आई है।

परमाणु ऊर्जा संयंत्रों की हो रही जांच
एनएचके की रिपोर्ट के अनुसार, होकुरिकु इलेक्ट्रिक पावर ने कहा कि वह अपने परमाणु ऊर्जा संयंत्रों में किसी भी अनियमितता की जांच कर रहा है। कंसाई इलेक्ट्रिक पावर के एक प्रवक्ता ने कहा कि उसके परमाणु ऊर्जा संयंत्रों में फिलहाल कोई असामान्यता नहीं है, लेकिन कंपनी स्थिति पर करीब से नजर रख रही है। बता दें 11 मार्च, 2011 को पूर्वोत्तर जापान में एक बड़ा भूकंप और सुनामी आई जिससे शहर तबाह हो गए और फुकुशिमा में परमाणु विस्फोट शुरू हो गया।

सतर्क रहें नागरिक: प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा
जापानी प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने टेलीविजन पर प्रसारित एक संबोधन में नागरिकों से निकासी आदेशों का बारीकी से पालन करने को कहा। उन्होंने चेतावनी दी कि प्रारंभिक चेतावनी के बाद और अधिक भूकंप और सुनामी लहरें आ सकती हैं। उन्होंने नागरिकों से सतर्क रहने को कहा और कहा कि वह घटनाक्रम पर करीब से नजर रख रहे हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें