ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विदेशपटरी पर लौटेगी श्रीलंका की अर्थव्यवस्था? नियमों में ढील देने के बाद बढ़ा पर्यटन

पटरी पर लौटेगी श्रीलंका की अर्थव्यवस्था? नियमों में ढील देने के बाद बढ़ा पर्यटन

श्रीलंका की अर्थव्यवस्था बहुत ही बुरे दौर से गुजर रही थी। हालांकि अब श्रीलंका के सेंट्रल बैंक ने दावा किया है कि 11 महीने में पर्यटन से 113 करोड़ डॉलर की कमाई हुई है।

पटरी पर लौटेगी श्रीलंका की अर्थव्यवस्था? नियमों में ढील देने के बाद बढ़ा पर्यटन
Ankit Ojhaएजेंसियां,कोलंबोMon, 05 Dec 2022 03:19 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

श्रीलंका को इस साल के पहले 11 महीनों में पर्यटकों के आगमन से 112.94 करोड़ डॉलर से अधिक की कमाई हुई। देश के केंद्रीय बैंक ने यह जानकारी दी। केंद्रीय बैंक ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के फिर शुरू होने और कोरोना वायरस महामारी से संबंधित प्रतिबंधों में ढील से पर्यटन में प्रभावशाली उछाल आया है।
     
गौरतलब है कि महामारी के चलते श्रीलंका की अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई और देश एक बड़े आर्थिक संकट का सामना कर रहा है।  सेंट्रल बैंक ऑफ श्रीलंका ने रविवार को एक बयान में कहा कि श्रीलंका में नवंबर 2022 के दौरान 59,759 पर्यटक आए, जो इससे पिछले महीने की तुलना में 42 प्रतिशत अधिक है।  श्रीलंका को नवंबर में अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों के आगमन से 10.75 करोड़ अमेरिकी डॉलर की कमाई हुई।

बता दें श्रीलंका की हालत इतनी खराब हो गई थी कि लोगों को खाने-पीने के लाले पड़ गए। सरकार के पास कच्चा तेल आयात करने के लिए भी धन नहीं था। विदेशी मुद्रा भंडार लगभग खत्म हो गया था। इसी के चलते महिंदा राजपक्षे को प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा। गुस्साए लोगों ने कोलंबो में राजभवन पर हमला कर दिया और गोटाबाया राजपक्षे को देश छोड़कर भागना पड़ा। 

जानकारों का कहना है कि मई में श्रीलंका विदेशी कर्ज के बदले रकम नहीं चुका पाया था। वहीं सरकार का कहना था कि कोविड महामारी की वजह से देश की अर्थव्यवस्था धराशाई हो गई। 2009 के गृहयुदध के बाद श्रीलंका से विदेशी बाजार दूर हो गया। इसलिए आयात का खर्च बढ़ गया। वहीं श्रीलंका की खराब हालत के लिए चीन को भी जिम्मेदार माना जाता है। चीन ने श्रीलंका को खूब कर्ज दिया और कई प्रोजेक्ट शुरू किए जो कि पूरे भी नहीं हो सके।